Mahi Gill Regrets Working in Salman Khan Film

दि राइजिंग न्‍यूज

 

आज (16 अप्रैल) वैशाख मास की अमावस्या है और इस दिन सोमवार भी है। जब अमावस्या सोमवार को पड़ती है तो उसे सोमवती अमावस्या कहते हैं। शास्त्रों में अमावस्या पर पवित्र नदियों में नहाने और दान करने के बारे में बताया गया है।

आइए जानते हैं कि अमावस्या पर कौन सा काम करना चाहिए और कौन सा नहीं-

  • सोमवार के दिन अमावस्या पड़ने के कारण इसका महत्व और भी बड़ा हो जाता है इसलिए इस दिन शिवलिंग पर तांबे के पात्र से जल चढ़ाना चाहिए और पीपल के पेड़ पर भी।

  • सोमवती अमावस्या के दिन पवित्र नदी में स्नान करना चाहिए और इस दिन हनुमानजी के सामने तेल का दीपक जलाकर हनुमान चालीसा का पाठ करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है।

  • शास्त्रों में बताया गया है कि अमावस्या की रात को भूलकर भी किसी सुनसान जगह पर नहीं जाना चाहिए, क्योंकि अमावस्या वाली रात को नकारात्मक शक्तियां सबसे ज्यादा सक्रिय रहती हैं।

  • अमावस्या वाले दिन देर से सो कर नहीं उठना चाहिए। साथ ही इस दिन किसी को अपशब्द या फिर किसी के साथ वाद-विवाद में नहीं पड़ना चाहिए।

  • अमावस्या पर किसी भी इंसान को श्मशान घाट या कब्रिस्तान में या उसके आस-पास नहीं घूमना चाहिए। इस समय बुरी आत्माएं सक्रिय हो जाती है और मानव इन बुरी आत्माओं या नकारात्मक शक्तियों से लड़ने में सक्षम नहीं होता है।

  • सोमवती अमावस्या के दिन स्नान का खास महत्व है इसलिए अगर आप किसी पवित्र नदी में स्नान नहीं कर पाएं है तो घर पर जरूर स्नान कर लें। स्नान करने के बाद सूर्य देव को अर्घ्य देना नहीं भूलें।

  • अमावस्या पर संयम बरतना चाहिए। इस दिन पुरुष और स्त्री को यौन संबंध नहीं बनाना चाहिए। गरुण पुराण के अनुसार, अमावस्या पर यौन संबंध बनाने से पैदा होने वाली संतान को आजीवन सुख नहीं मिलता है।

  • अमावस्या के दिन पीपल की पूजा करने से शुभ फल प्राप्त होते हैं, लेकिन शनिवार के अलावा अन्य दिन पीपल का स्पर्श नहीं करना चाहिए इसलिए पूजा करें लेकिन पीपल के वृक्ष का स्पर्श ना करें। इससे धन की हानि होती है।

  • इस अमावस्या पर शराब और मांस इत्यादि से दूर रहें।

  • इस दिन चटाई पर सोना चाहिए तथा शरीर में तेल नहीं लगाना चाहिए। दोपहर में न सोएं।

  • सोमवती अमावस्या के दिन लहसुन-प्याज जैसी तामसिक चीजें भी न खाएं।

  • सोमवती अमावस्या के दिन शेव, हेयर और नेल कटिंग ना करें। इन कामों को भी वर्जित किया गया है।

  • अमावस्या पर घर में पितरों की कृपा पाने के लिए घर में कलह का माहौल बिल्कुल नहीं होना चाहिए। लड़ाई-झगड़े और वाद-विवाद से बचना चाहिए। इस दिन कड़वे वचन तो बिल्कुल नहीं बोलने चाहिए।

  • अगर सोमवती अमावस्या का व्रत हैं तो श्रृंगार करने से बचें। सादगी अपनाएं।

  • इस दिन पीपल के पेड़ की परिक्रमा करके सुखद वैवाहिक जीवन का वरदान मिलता है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll