Home Spiritual Krishna Janmashtami Special: Why Does Lord Krishna Like Makhan Mishri And 56 Types Of Food

गुड़गांव: सेक्टर 9 में अपहरण की कोशिश मामले में 2 आरोपी गिरफ्तार

जम्मू कश्मीर की सीएम और डिप्टी सीएम ने किया करगिल का दौरा

सपा के पूर्व नेता अशोक वाजपेयी और स्वेता सिंह बीजेपी में शामिल

राजस्थान: चित्तौड़गढ़ से 8 लाख के अमान्य नोटों के साथ 2 लोगों की गिरफ्तारी

लुधियाना सिटी सेंटर घोटाले में विजीलेंस ब्यूरो से CM अमरिंदर सिंह को क्लीन चिट

Trending :   #Hot_Photoshot   #Sports   #Politics   #Hollywood   #Bollywood

...तो इसलिए श्रीकृष्‍ण को पसंद है माखन मिश्री और 56 भोग

Spiritual | 13-Aug-2017 05:37:42 PM
            
   rising news official whatsapp number +91-7080355555

Krishna Janmashtami Special: Why does Lord Krishna Like Makhan Mishri and 56 types of Food

दि राइजिंग न्‍यूज

 

15 अगस्‍त को भगवान श्रीकृष्‍ण की जन्‍माष्‍टमी है। भगवान विष्णु के 8वें अवतार श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव देश-विदेश में बड़े धूमधाम से मनाने की तैयारियां जोरों से चल रही हैं। हिन्दू पंचाग के अनुसार भगवान श्रीकृष्ण का जन्म भाद्रपद की अष्टमी की मध्यरात्रि को हुआ था।

 

 

भगवान श्रीकृष्ण बचपन से ही बेहद शरारती बच्चे थे और उनको खाने का बहुत ही शौक था। माता यशोदा हर रोज उनको अपने हाथों से तरह-तरह के पकवान बना कर खिलाया करती थीं। आइए जानते हैं भगवान श्रीकृष्ण को खाने में क्या-क्या पंसद है-

 

  • भगवान श्रीकृष्ण का एक नाम माखन चोर भी है। कृष्ण जी को बचपन से ही मख्खन खाना बेहद पंसद है। इसके लिए वह पूरे गांव में मख्खन को चुरा कर खा जाया करते थे।
  • भगवान श्रीकृष्ण को उनके भक्त माखन के अलावा उन्हें प्रसन्न करने के लिए माखन मिश्री का भोग लगाते हैं। यह भोग भगवान को बहुत पसंद है। इसके अलावा भगवान को 56 तरह के भोग भी लगाए जाते हैं।
  • भगवान को भोग लगाने के लिए भक्त 56 भोग चढ़ाते हैं। 56 भोग लगाने के पीछे कथा है। कहा जाता है कि इंद्र के प्रकोप से सारे ब्रजवासियों को बचाने के लिए उन्होंने पूरे गोवर्धन पर्वत को उठा लिया था। ऐसा करने के लिए उन्होंने सात दिनों तक अन्य जल ग्रहण नहीं किया था।
  • भगवान श्रीकृष्ण हर रोज भोजन में आठ तरह की चीजें खाते थे, लेकिन सात दिनों से उन्होंने कुछ भी नहीं खाया था। इसलिए सात दिनों के बाद गांव का हर निवासी उनके लिए 56 तरह के पकवान बनाकर लेकर आया था, तभी से उनको 56 प्रकार के भोग लगाए जाते हैं।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

HTML Comment Box is loading comments...
Content is loading...

 

संबंधित खबरें


 
 
What-Should-our-Attitude-be-Towards-China

 

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll

 

 

 

Flicker News


Most read news

 

Most read news

 

Most read news

खबर आपके शहर की