Mona Lisa to use her personal sari collection for new show

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

दुनिया में कुछ ऐसे अनसुलझे सवाल हैं, जिनको सुलझा पाना शायद ही संभव हो। एक ऐसा ही रहस्य इटली में भी है, जिसका खुलासा आज तक नहीं हो पाया है। दरअसल इटली के बोलोनिया से करीब 28 किलोमीटर दूर एपीनाइन पहाड़ की चोटी पर एक चर्च मौजूद है। यहां पर एक आश्चर्यजनक नजारा देखने को मिलता है। यहां पर हर साल पंख वाली चीटियां आती हैं, लेकिन खास बात ये है कि वो एक ही समय में यहां हर साल आती हैं। वो हर साल अगस्त-सितंबर माह के दौरान करोड़ों की तादाद में यहां पर आती हैं। यहां के स्थानीय लोग इस पहाड़ को स्थानीय भाषा में मोन्ते देल्ले फोरमीके बोलते हैं, जिसका मतलब होता है चींटियों का पहाड़।

इससे भी बड़ी बात ये है कि ये चीटियां यहां मरने के लिए आती हैं। यहां का नजारा कुछ ऐसा हो जाता है, मानो आसमान में चीटियों का बादल बन गया हो। हर साल हजारों लोग इस नजारे को देखने के लिए आते हैं। इस घटना के बारे में वैज्ञानिकों का मानना है कि जिस तरह पक्षी सर्दियों में गर्म देशों की ओर चले जाते हैं, ठीक वैसे ही स्क्राब्रीनोटिस जाति की चीटियां यहां प्रजनन करने आती हैं।

वैज्ञानिकों का कहना है कि प्रजनन के बाद चीटियां दोबारा लौट जाती हैं, लेकिन कुछ चीटियां प्रजनन के साथ ही मौत की नींद सो जाती हैं। इसका कारण ये है कि प्रजनन करने में वो इतना मशगूल हो जाती हैं कि भूख और हवा के तेज थपेड़ों से गिरकर मर जाती हैं।

लेकिन सवाल ये उठता है कि आखिर वो हर साल प्रजनन चक्र पूरा करने के लिए यहीं क्यों आती हैं। लेकिन इस सवाल का जवाब अभी तक नहीं मिल पाया है। जिस चर्च में वो हर साल आती हैं वो द्वितीय विश्व युद्ध में पूरी तरह नष्ट हो गया था, लेकिन इसके बावजूद चीटियां यहां हर साल आती हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll