Home Mysterious News Unsolved Mysteries Of World

इलाहाबादः BJP विधायक संजय गुप्ता की गाड़ी सीज करने वाले दरोगा सस्पेंड

PNB घोटाला: मेहुल चोकसी के खिलाफ सीबीआई ने दर्ज की चार्जशीट

MP चुनाव: कांग्रेस को-ऑर्डिनेशन कमेटी के चेयरमैन नियुक्त हुए दिग्विजय सिंह

जोधपुरः 3 मंजिला इमारत ढही, मलबे में कई लोगों के दबे होने की आशंका

लालू प्रसाद आज शाम होंगे मुंबई रवाना, हृदय रोग का करवाएंगे इलाज

आखिर क्या है इन रिकॉर्डर का राज...

unsolved-mysteries | Last Updated : 2018-01-28 17:06:38

Unsolved Mysteries of World


दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

1937 में तिब्‍बत और चीन के बीच बोकाना पर्वत की एक गुफा में 716 रिकार्डर मिले। उन रिकॉर्डर का आकर पत्थर नुमां था। महावीर भगवान से 10 हजार साल पुराने यानी आज से कोई साढ़े 13 हजार साल पुराने। ये रिकॉर्डर बड़े आश्‍चर्य के हैं, क्‍योंकि ये रिकॉर्डर ठीक वैसे ही हैं, जैसे ग्रामोफोन का रिकॉर्ड होता है। ठीक उसके बीच में एक छेद है और पत्‍थर पर ग्रूव्‍ज है, जैसे कि ग्रामोफोन के रिकॉर्डर पर होते हैं। अब तक राज नहीं खोला जा सका है कि वे किस यंत्र पर बजाए जा सकेंगे।

लेकिन एक बात तो है,  रूस के वैज्ञानिक डॉ. सर्जीएव ने वर्षों तक मेहनत कर यह प्रमाणित किया है कि वे हैं तो रिकॉर्डर ही है। किस यंत्र पर और किस सुई के माध्‍यम से वे पुनर्जीवित हो सकेंगे, यह अभी तय नहीं हो सका। अगर एकाध पत्‍थर का टुकड़ा होता तो सयोंग भी हो सकता है, पर यह तो 716 हैं सब एक जैसे, जिनमें बीच में छेद हैं। सब पर ग्रूव्‍ज है और उनकी पूरी तरह सफाई कर दी गई और जब विद्युत यंत्रों से उनकी परीक्षा की गई, तब बड़ी हैरानी हुई। उनसे प्रति पल विद्युत की किरणें विकिरणित हो रही हैं। लेकिन क्‍या आदमी के आज से 12 हजार साल पहले ऐसी कोई व्‍यवस्‍था थी कि वह पत्‍थरों में कुछ रिकॉर्ड कर सके?

 

 



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...