Ali Asgar Faced Molestation in The Getup of Dadi

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

 

भारत अपनी प्राचीन सभ्यता के लिए जाना जाता है। यहां पूजा-पाठ से लेकर तंत्र-मंत्र से सम्बंधित विद्याओं का भी समवेश होता है। पूरे भारत में कई ऐसे मंदिर है, जहां तांत्रिक अपनी विद्या का प्रदर्शन कर देवी-देवताओं को खुश करते हैं। इन मंदिरों में जहां एक ओर तांत्रिक तंत्र-क्रियाओं का प्रयोग करते हैं, वहीं यहां भूत-पिचाशों की समस्या से लोगों को छुटकारा दिया जाता है। आज हम आपको ऐसे ही कुछ मंदिरों के बारे में बताने जा रहे हैं।

वेताल मंदिर (ओडिसा)

8वीं सदी में बने भुवनेश्वर के इस मंदिर में बलशाली चामुण्डा की मूर्ति है। बलशाली चामुण्डा काली का ही एक रूप है। इस मंदिर में तांत्रिक क्रियाएं हमेशा चलती ही रहती है।

बैजनाथ मंदिर (हिमाचल प्रदेश)

इस मंदिर में शिव भगवान का प्रसिद्ध वैधनाथ लिंग है। बैजनाथ मंदिर अपनी तांत्रिक क्रियाओं और यहां का पानी अपनी पाचन शक्तियों के लिए प्रसिद्ध है।

एकलिंग मंदिर (राजस्थान)

भगवान शिव को समर्पित एकलिंग जी मंदिर उदयपुर के पास है। यहां शिव की एक अनोखी और बेहद खूबसूरत चौमुखी मूर्ति है जो काले संगमरमर से बनी है।

कालीघाट (कोलकाता)

कोलकाता का कालीघाट तांत्रिकों के लिए बहुत महत्वपूर्ण तीर्थ है। मान्यताओं के अनुसार इस जगह पर देवी सती की उंगलियां गिरी थी।

कामाख्या मंदिर (असम)

असम का कामाख्या मंदिर तांत्रिक गतिविधियों का गढ़ माना जाता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, इस जगह पर देवी सती का योनि भाग गिरा था।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement