Kareena Kapoor Will Work With SRK and Akshay Kumar in 2019

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

हमारे देश में कई ऐसी धारणाओं को जगह दी गयी है जिसपे हम तर्क-कुतर्क तक करना पसंद नहीं करते। कल हमने आपको ऐसे ही कुछ अंधविश्वासों के बारे में बताया था। आइये आज भी आपको कुछ और ऐसी ही बातों से अवगत करवाते हैं।

पीपल के पेड़ पर भूत रहते हैं!

बचपन में सबके दादा-नाना भूतों की कहानियां सुनाते हैं, कई तो ऐसी कहानियां सुनाते हैं, जिसमें उन्होंने भूतों से आमने-सामने लड़ाई की है। ज़्यादातर कहानियों में लोगों की भूतों से मुलाकात, पीपल के पेड़ के नीचे ही होती है। दरअसल, पीपल का पेड़ रात के वक्त कार्बन डाइऑक्साइड और दूसरी हानिकारक गैसें छोड़ता है, जिससे लोगों का दम घुटने लगता है। इसी कारण, इस धारणा को बल मिला कि पीपल के पेड़ पर भूत रहता है।

इंसानों के ऊपर छिपकली गिरने का प्रभाव

अगर छिपकली किसी इंसान के ऊपर गिर जाए, तो उसे अशुभ माना जाता है। इसके प्रभाव को खत्म करने के लिए लोग तुरन्त पूरे शरीर पर साफ़ पानी छिड़कते हैं। इस अंधविश्वास का भी कोई आधार नहीं है।

गंगा में डुबकी लगाने से धुल जाते हैं पाप

लोगों का मानना है कि गंगा में डुबकी लगाने से सभी पाप धुल जाते हैं। ये अंधविश्वास एक तरह से पाप को ही बढ़ावा देता है। कोई भी नदी में जाकर स्नान कर ले, उसके सारे पाप धुल जाएंगे। इसके बाद वो फिर पाप कर सकता है। ये अंधविश्वास से ज़्यादा एक धार्मिक मान्यता है।

माहवरी के दिनों में महिलाओं को माना जाता है अशुद्ध

ये सबसे ज़्यादा प्रचलित अंधविश्वासों में से एक है। मासिक धर्म के समय महिलाओं को अशुद्ध और अछूत माना जाता है। उनके मन्दिर और रसोई में प्रवेश पर सख़्त रोक होती है। देश के कई हिस्सों में, जहां पुरूषवादी समाज हावी है। वहां अब भी इस अंधविश्वास में यकीन करते हज़ारों लोग आपको मिल जाएंगे ।

इस के पक्ष में एक तर्क दिया जा सकता है कि मासिक धर्म के समय महिलाओं में खून की कमी और थकान हो जाती है, इसलिए उन्हें भारी कामों से बचाने के लिए रोक लगाई जाती है। लेकिन अशुद्ध और अछूत मानना एक तरह से महिलाओं का अपमान है।

सूर्य डूबने के बाद नहीं करनी चाहिए सफ़ाई

ये भी एक अंधविश्वास है कि सूर्य के डूबने के बाद घर की साफ़-सफ़ाई नहीं करनी चाहिए। इसमें विश्वास करने वाले लोगों का मानना है कि ऐसा करने से हमारे जीवन में दुर्भाग्य आता है और धन की भी हानि होती है। कुछ दशकों पहले बिजली और उजाले की सही व्यवस्था न होने से रात के समय सफ़ाई करते समय अगर कोई कीमती सामान गिरा हो, तो उसे भी गलती से बाहर फेंक दिया जाता था। इसी कारण से इस अंधविश्वास का जन्म हुआ, जो आज भी प्रचलन में है।

नींबू-मिर्च को दरवाजे से लटकाना

ये ऐसा प्रचलित अंधविश्वास है, जिसे आप अकसर दुकानों और घरों के दरवाज़ों पर लटकता हुआ देखते होंगे। लोगों का मानना है कि एक नींबू में सात मिर्च लगाकर, दरवाज़े पर टांगने से बुरी आत्माएं अंदर प्रवेश नहीं कर पाती हैं।

लोहे की बनी धारदार चीज़ों को हाथ में नहीं दिया जाता है

अंधविश्वास के तहत लोग, चाकू और कैंची जैसी चीजों को सीधे हाथ में नहीं देते हैं। इसके पीछे शायद ये कारण रहा हो कि ऐसी चीज़ें चोट पहुंचा सकती हैं, इसलिए इन्हें सीधे हाथ में देने के बजाए नीचे रख दिया जाता हो। आज भी ये अंधविश्वास समाज के कई हिस्सों में प्रासंगिक बना हुआ है।

दीपावली की रात को लक्ष्मी घर में आती हैं

लोग मानते हैं कि दीपावली की रात को लक्ष्मी घर में आती हैं। इसलिए दीपावाली के दिन लोग घर की सफ़ाई करते हैं और कई लोग तो अपने घर को खुला छोड़ कर भी रखते हैं।

घर से बाहर निकलते समय किसी का टोक देना

घर से निकलते समय अगर किसी ने ये पूछकर टोक दिया कि “कहां जा रहे हो?” तो लोग मानते हैं कि, जिस काम के लिए बाहर जा रहे हैं, वो काम पूरा नहीं होगा। उसमें कोई न कोई दिक्कत या परेशानी ज़रूर आएगी। इसी तरह लोग घर से बाहर निकलते समय विधवा और तेली के सामने आ जाने को भी अपशगुन मानते हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll