Box Office Collection of Raazi

दि राइजिंग न्‍यूज

आउटपुट डेस्‍क।

 

जब बात प्रकृति की आती है तो एक सुंदर सा दृश्‍य हमारे सामने आ जाता है, खुला आसमान और विशाल धरती के बीच इंसान प्रकृति का एक अदना सा हिस्सा है। इंसान कितना भी ज्ञान अर्जित कर ले, कितना भी विज्ञान को जान जाये लेकिन प्रकृति हर बार कुछ ऐसा कर जाती है कि हर बार उसके करिश्मे के आगे विज्ञान को भी अपने घुटने टेकने पड़ जाते हैं।

आज हम ऐसी ही प्रकृति की कुछ रहस्यमयी बातों को आपके सामने पेश कर रहें हैं जिनसे कभी पर्दा नहीं उठा-

 

1. करोड़ों साल पुराना धातु का हथौड़ा

हमने अपनी इतिहास की किताबों से यही सीखा है कि इंसान ने धातु का इस्तेमाल कुछ 10 हज़ार सालों पहले शुरू किया था, लेकिन 1934 में पुरातत्व विभाग को अपनी खोज में मिला ये हथौड़ा भ्रमित कर ही देता है। कारण यह है कि इस हथौड़े में लगी लकड़ी कोयला बन चुकी है और कोयला बनने में करोड़ो वर्ष लग जातें हैं।

 

2. मरुस्थल में बना शिलाओं का घेरा

सहारा मरुस्थल के बीचों-बीच कुछ बड़े पत्थरों का एक बड़ा घेरा मिला। इसकी खोज पुरातत्व विशेषज्ञों ने 1973 में की। वैज्ञानिकों का मानना है कि पाषाण काल में इनका इस्तेमाल खगोलशास्त्रियों के द्वारा ग्रह-नक्षत्रों की खोज के लिए किया जाता था, लेकिन आज का मनुष्य इस कला से अनभिज्ञ है।

 

 

3. शेंग मरुस्थल में मिली पत्थर पर बनी सीढ़ी लकीरें

चीन में गानसू शेंग रेगिस्तान के बीचों-बीच कुछ लकीरें मिली, जिन्हें चीनी मोज़ेक लाइन का नाम दिया गया। इसे मोगाओं गुफ़ा के आस-पास बनाया गया था। चौंकाने वाली बात यह है कि पत्थरों के ऊबड़-खाबड़ होने के बाद भी यह लकीरें एकदम सटीक और सीधी हैं।

 

4. पाषाणकालीन पत्थर का खिलौना

पुरातत्व विभाग को 1889 में ईदाहो के नाम्पा में एक पत्थर की गुड़िया मिली, जो बहुत ही पुरानी थी। इसे देखकर वैज्ञानिकों ने यह अनुमान लगाया कि पाषाणकालीन यह गुड़िया मानव के धरती पर अस्तित्व पर सवाल उठा रही थी। वैज्ञानिकों के हिसाब से यह गुड़िया करोड़ों वर्ष पुरानी थी।

 

5. उल्का अवशेष में फंसा धातु का पेंच

वैज्ञानिकों को 1998 में हुई शोध में उल्का के अवशेष की जांच करते समय एक पत्थर का टुकड़ा मिला था। जिसमें एक लोहे का पेंच था। वैज्ञानिकों के माने तो यह पत्थर 30 करोड़ साल पुराना है और लेकिन उस समय तक धरती और किसी भी प्रजाति ने जन्म नहीं लिया था।

 


 

 यह भी पढ़ें  

इस विशालकाय जीव को बीच पर देखकर पर्यटक रह गया हैरान !

ख़त्म हुई “बाजीराव-मस्तानी” की प्रेम कहानी

आपके पेट्स तो ऐसे नहीं हैं.....

नागपंचमी के दिन इन नागों की जाती है पूजा

सपने में दुल्हन देखने का असल जीवन में असर ...

फोटोज को बनाना था खूबसूरत पर हो गया ये काण्ड...

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll