हर साल 24 जनवरी को यूपी दिवस मनाया जाएगा: योगी आदित्यनाथ

अगली सुनवाई तक आधार कार्ड न रहने पर भी ले सकेंगे सारी सरकारी सुविधाएं: सुप्रीम कोर्ट

मध्यप्रदेश: बालाघाट में कर्ज तले दबे एक किसान ने कथित तौर पर की आत्महत्या

हैदराबाद: इंडोनेशियन और ऑस्ट्रेलियन ओपन जीतकर भारत लौटे किदांबी श्रीकांत

अमेरिका से पीएम मोदी नीदरलैंड के लिए रवाना हुए

बारिश की जानकारी सात दिन पहले दे देता है यह मंदिर


signs of rain given by this temple seven days before


दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।


भारत दुनिया का एक ऐसा देश है जो आश्चर्यो से भरा हुआ है। इस देश के हर राज्य में हर शहर के कोने-कोने में कोई न कोई अदुभुत जगह मौजूद है। ऐसी ही एक जगह है उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद में स्थित भगवान जगन्नाथ का मंदिर जो की अपनी एक अनोखी विशेषता के कारण बहुत प्रसिद्ध है। इस मंदिर की विशेषता यह है की यह मंदिर बारिश होने की सुचना सात दिन पहले ही दे देता है। इस बात पर यकीन करना थोडा मुश्किल है, लेकिन यहां के लोगों की यही मान्यता सदियों से चलती चली आ रही है।


आपको जानकारी दे दें कि यह मंदिर भगवान जगन्नाथ के नाम पर स्थापित है और यह कानपुर जनपद के भीतरगांव विकासखंड मुख्यालय से तीन किलोमीटर पर बेंहटा गांव में स्थित है। ऐसा कहा जाता है कि इस मंदिर की खासियत यह है कि बरसात से सात  दिन पहले इसकी छत से बारिश की कुछ बूंदे अपने आप ही टपकने लगती हैं।


हालांकि इस रहस्य को जानने के लिए कई बार प्रयास हो चुके हैं पर तमाम सर्वेक्षणों के बाद भी मंदिर के निर्माण तथा रहस्य का सही समय पुरातत्व, वैज्ञानिक पता नहीं लगा पायें हैं। बस इतना ही पता लग पाया कि मंदिर का अंतिम जीर्णोद्धार 11 वीं सदी में हुआ था। उसके पहले कब और कितने जीर्णोद्धार हुए या इसका निर्माण किसने कराया जैसी जानकारियां आज भी अबूझ पहेली बनी हुई हैं, लेकिन बारिश की जानकारी पहले पता लगने से किसानों को जरूर सहायता मिलती है।


इस मन्दिर में भगवान जगन्नाथ, बलदाऊ और बहन सुभद्रा की काले चिकने पत्थर की मूर्तियां स्थापित हैं। वहीं सूर्य और पदमनाभम भगवान की भी मूर्तियां हैं। मंदिर की दीवारें 14 फीट मोटी हैं। वर्तमान में मंदिर पुरातत्व विभाग के अधीन है। मंदिर से वैसी ही रथ यात्रा निकलती है जैसी पुरी उड़ीसा के जगन्नाथ मंदिर से निकलती है।


मौसमी बारिश के समय मानसून आने के एक सप्ताह पूर्व ही मंदिर के गर्भ ग्रह के छत में लगे मानसूनी पत्थर से उसी घनत्वाकार की बूंदें टपकने लगती हैं, जिस तरह की बरसात होने वाली होती है। जैसे ही बारिश शुरू होती है वैसे ही पत्थर सूख जाता है।


मंदिर के पुजारी दिनेश शुक्ल ने बताया कि कई बार पुरातत्व विभाग और आईआईटी के वैज्ञानिक आए और जांच की। न तो मंदिर के वास्तविक निर्माण का समय जान पाए और न ही बारिश से पहले पानी टपकने की पहेली सुलझा पाए हैं। हालांकि मंदिर का आकार बौद्ध मठ जैसा है। जिसके कारण कुछ लोगों की मान्यता है कि इसको सम्राट अशोक ने बनवाया होगा, परन्तु मंदिर के बाहर बने मोर और चक्र की आकृति से कुछ लोग इसको सम्राट हर्षबर्धन से जोड़ कर देखते हैं।


यह भी पढ़ें

फिलीपीन: कसीनो में गोलीबारी, 34 की मौत 

एकेटीयू के भ्रष्टाचारियों की कॉलर ऊंची करेंगे मोदी

एंकर के सवाल पर जोर से हंस दिए मोदी

..तो ऐसे हुआ था काबुल पर अटैक 

यूएस ने मार गिराया नॉर्थ कोरिया का मिसाइल

इन दिग्गजों ने किया भारतीय कोच के लिए अप्लाई

दिशा पटानी ने करवाया बोल्ड फोटोशूट

HTML Comment Box is loading comments...
Content is loading...

 

संबंधित खबरें


the world of instagram

ईशा गुप्ता का बोल्ड अवतार, आप भी देखिये

Latest News Bollywood Hot Actress Esha Gupta Bold Photoshot viral on Social Media

ईशा गुप्ता का बोल्ड अवतार, आप भी देखिये

ऐसी दिखती थीं बचपन में कैटरीना

Latest News Bollywood Actress katrina Kaif  Instagram Account Pics of Childhood

ऐसी दिखती थीं बचपन में कैटरीना

फिटनेस फ्रीक...आलिया भट्ट

Latest News Bollywood Alia Bhatt Cutest Girl Alia Bhatt Instagram

फिटनेस फ्रीक...आलिया भट्ट

बेबी बंप के साथ स्पाट हुई ईशा देओल

eisha deol spotted with baby bump at airport

बेबी बंप के साथ स्पाट हुई ईशा देओल

परिणीति ने करवाया नया फोटोशूट

parineeti new photoshoot

परिणीति ने करवाया नया फोटोशूट

गैजेट्स

The Rising News Public Poll

 

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll

 

 

Rising Newsletter Newsletter

 

Flicker News


Most read news

 

Most read news

 

Most read news

खबर आपके शहर की