Irrfan Khan Writes an Emotional Letter About His Health

दि राइजिंग न्यूज़  

आउटपुट डेस्क। 


कहते हैं नागमणि को भगवान शेषनाग धारण करते हैं। भारतीय पौराणिक और लोक कथाओं में नागमणि के किस्से आम लोगों के बीच काफी फेमस हैं। नागमणि सिर्फ नागों के पास ही होती है। ऐसा माना जाता है कि नाग इसे अपने पास इसलिए रखते हैं ताकि उसकी रोशनी के आसपास इकट्ठे हो गए कीड़े-मकोड़ों को वह खाता रहे।


हालांकि इसके अलावा भी नागों द्वारा मणि को रखने के और भी कारण हैं। नागमणि का रहस्य आज भी कई रहस्यों की तरह अनसुलझा हुआ है। आम जनता में यह बात प्रचलित है कि कई लोगों ने ऐसे नाग देखे हैं जिसके सिर पर मणि थी। हालांकि पुराणों में मणिधर नाग के कई किस्से हैं। भगवान कृष्ण का भी इसी तरह के एक नाग से सामना हुआ था।


सर्पमण‌ि ज‌िसे नागमण‌ि भी कहते हैं यह व‌िशेष नाग के स‌िर पर स्‍थ‌ित होती है। ज्योत‌िषशास्‍त्र के एक प्रमुख ग्रंथ वृहत्ससंह‌िता में जो उल्लेख म‌िलता है उसके अनुसार संसार में मण‌िधारी नाग मौजूद हैं।


चुंक‌ि ऐसे नागों का म‌िलना दुर्लभ होता है इसल‌िए कहा जाता है मण‌िधारी नाग नहीं होते हैं। अब सच जो भी है लेक‌िन वृहत्ससंह‌िता में नागमण‌ि के बारे में कई रोचक बातें बताई गई हैं। जो इस बात को सोचने पर व‌िवश करता है क‌ि क्या वास्तव में नागमण‌ि होता है या नहीं।


आइये जानतें हैं नागमणि के बारे में कुछ रोचक बातें


  • नागमण‌ि में इतनी चमक होती है क‌ि जहां यह होती है वहां आस-पास तेज रोशनी फैल जाती है।
  • नागमण‌ि अन्य म‌ण‌ियों से अध‌िक प्रभावशाली और अलौक‌िक होती है। नागमण‌ि मोर के कंठ के समान और अग्न‌ि के समान चमकीली द‌िखती है।
  • यह मण‌ि ज‌िसके पास होती है उस पर व‌िष का प्रभाव नहीं होता है। यह रोग से मुक्त होते हैं।
  • वराहम‌िह‌िर बताते हैं क‌ि ज‌िस राजा के पास यह मण‌ि होती है वह शत्रुओं पर व‌िजय प्राप्त करने वाले होते हैं।
  • इनके राज्य में समय से वर्षा होती और प्रजा खुशहाल रहती है। वराहम‌िह‌िर इस तरह की बात इसल‌िए ल‌‌िखते हैं क‌ि उन द‌िनों राजे महाराजे हुआ करते थे।


यह भी पढ़ें

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

The Rising News

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll