Home mysterious news Reason Behind This Clan Unable To Get The Happiness If Male Child

दिल्ली: आईजीआई एयरपोर्ट पर एक यात्री 13 सोने की बिस्किटों के साथ पकड़ा गया

रोहिंग्या के मसले पर सरकार का रुख साफ, यह एक नीतिगत मुद्दा: अरुण जेटली

जम्मू कश्मीर: बनिहाल-जम्मू रूट पर सड़क हादसा, 4 लोगों की मौत

दिल्ली: ब्रेन हेमरेज की वजह से कांग्रेस नेता एनडी तिवारी अस्पताल में भर्ती

अनंतनाग: हिज्बुल आतंकी आदिल अहमद बिजबेहरा रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार

Trending :   #Hot_Photoshot   #Sports   #Politics   #Hollywood   #Bollywood

क्यों इस वंश को नहीं मिल रहा पुत्र सुख

     
  
  rising news official whatsapp number

reason behind this clan unable to get the happiness if male child

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।  


सुनने में यह एक फिल्म की कहानी जरुर लग सकती है लेकिन कर्नाटक के मैसूर राजवंश में पिछले 550 सालों से कोई बेटा पैदा नहीं हुआ है। इसका कारण बताया जाता है एक रानी का राजवंश को दिया गया श्राप है।


जानिए पूरी कहानी


शापित हैं राज परिवार


1612 में वाडेयार ने विजयनगर एम्पायर के महाराजा तिरुमलराजा को हराकर मैसूर में यदु राजवंश की स्थापना की। तब तिरुमलराजा की पत्नी रानी अलमेलम्मा गहने लेकर जंगल में छिप गई, लेकिन वाडेयार के सैनिकों ने उन्हें ढूंढ निकाला। खुद को चारों तरफ से घिरा देख रानी कावेरी नदी में कूद गईं। कहा जाता है कि नदी में डूबते वक्त रानी ने श्राप दिया- “जिसने मेरा नाश किया है उस वंश में अब कोई उत्तराधिकारी पैदा नहीं होगा।” तब से कभी वाडेयार राजा-रानी को पुत्र नहीं हुआ। यह सिलसिला पिछले तकरीबन 550 सालों से चला आ जारा है। राजवंश की महारानियों को राज परिवार के किसी मेंबर को वारिस के तौर पर गोद लेना होता है।


मैसूर को इस बार मिला नया राजा


23 साल के यदुवीर राज कृष्णदत्ता को वाडेयार वंश की परंपरा के मुताबिक राजा बनाया गया है। उन्होंने पहली बार मैसूर पैलेस में शाही दरबार लगाकर यदुवंशी वाडेयार राजघराने के अपने पुरखों की 500 साल पुरानी विरासत को आगे बढ़ाया। श्रीकांतदत्ता नर्सिम्हाराजा वाडेयार की मौत के बाद उनकी पत्नी महारानी प्रमोदा देवी ने यदुवीर को गोद लिया था।


यह भी पढ़ें

अमित शाह ने महात्‍मा गांधी को कहा चतुर बनिया

कश्‍मीर में शिक्षकों का सामूहिक इस्‍तीफा, ये है वजह

जनरल ने कहा, महिला सोल्‍जर्स की है जरूरत

एक तरफ मौसम खुशनुमा, दूसरी तरफ मौत का ज़लज़ला 

सुरक्षित नहीं हैं कतर में रह रहे इंडियंस

फोर्ब्स लिस्ट में विराट इकलौते भारतीय खिलाड़ी



जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

संबंधित खबरें

HTML Comment Box is loading comments...

 


Content is loading...



What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll



Photo Gallery
गणपति बप्पा मोरया मंगल मूर्ति मोरया । फोटो - कुलदीप सिंह

Flicker News


Most read news

 



Most read news


Most read news


खबर आपके शहर की