Home mysterious news Facts Of Ufo And Their Presence

चित्रकूट में डकैत बबली कोल के साथ मुठभेड़ में एक सब इंस्पेक्टर शहीद

तमिलनाडु: NEET में सुधार को लेकर चेन्नई में डीएमके का प्रदर्शन

सुप्रीम कोर्ट का फैसला- निजता है मौलिक अधिकार

निजता पर SC के फैसले को कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने बताया आजादी की बड़ी जीत

पंजाब रोडवेज ने हरियाणा जाने वाली अपनी सभी बसों के रूट रद्द किए

Trending :   #Hot_Photoshot   #Sports   #Politics   #Hollywood   #Bollywood

जानिये कब और कहां देखी गयी उड़न तश्तरी

     
  
  rising news official whatsapp number

facts of ufo and their presence

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क


इस ब्रह्माण्ड में पृथ्वी के अलावा और कई भी जीवों का अस्तित्व है या नहीं, यह प्रशन हमेशा से ही इंसान को आकर्षित करता आया है। समय-समय पर दूसरे ग्रहों पर प्राणियों के रहने के संकेत मिलते आयें हैं। एलियंस अपनी मौजूदगी के संकेत हमेशा से देते रहे हैं। आज हम आपको यही बाताने जा रहे  हैं कि दुनिया को दूसरी दुनिया के आने वालों का संकेत कब कब मिला।


1870 में मिट वाशिंगटन द्वारा न्यू हैंपशायर में बनाई गई इस तस्वीर को एलियंस की मौजूदगी बताने वाली पहली तस्वीर के तौर पर मान्यता मिली हुई है। इस फोटो को 2002 में ईबे पर नीलामी के लिए उतारा गया, जहां इसे सैमुएल एम शेरमन ने ऊंचे दाम पर खरीदा। सैमुएल एम शेरमन इंटरनेशनल पिक्चर्स कॉर्पोरेशन के प्रेसीडेंट थे। ये तस्वीर वास्तव में स्टीरियो फोटोग्राफ है। दरअसल, उस समय हवाई जहाज तक का आविष्कार नहीं हुआ था।


1927 को ओरेगोन के केव जंक्शन में ये तस्वीर खींची गई थी। इस तस्वीर को 1926 में खींचा गया, या 1927 में, इसपर विवाद है। इसे एक दमकलकर्मी ने खींचा था।




अप्रैल 1929 में कोलोरोडो के वार्ड सॉमिल में एडवर्ड लाइन द्वारा ये तस्वीर खींची गई थी। तस्वीर खींचने के सालों बाद एडवर्ड लाइन की बेटी ने बताया कि जब मैं 6 साल की थी, तब मेरे पिता ने 1929 में ये तस्वीर खींची थी। उन्होंने इसे बेहद डरावना करार दिया था।




1932 को ओहियो के सेंट पेरिस में ये तस्वीर खींची गई थी। मिड डे के नजदीक जॉर्ज सुट्टन ने मई 1932 में ये तस्वीर खींची थी। इस तस्वीर में व्यक्ति के पीछे अपरिचित चीज दिख रही है। इस तस्वीर के मालिक का कहना है कि उस समय कोई स्ट्रीट लाइट नहीं होती थी, इसलिए ऐसी किसी भी चीज की पहचान नहीं हो सकी। उन्होंने दावे के साथ कहा कि ये उड़नतस्तरी है।




7 जुलाई 1947 को एरिजोना के फ्यूनिक्स में विलियम होड्स ने सूर्यास्त के समय आसमान में कुछ चीजें उड़ती देखी और उसकी दो तस्वीरें खींच ली। इस तस्वीर में डिस्क जैसी चीज नजर आ रही थी। इन तस्वीरों को जांच के बाद असली पाया गया। बाद में इसे रोजवेल यूएफओका नाम दिया गया।




1947 को स्कॉटलैंड में ये तस्वीर खींची गई थी। साफतौर पर उड़ते जहाज की ये तस्वीर स्कॉटलैंड के बाहरी हेब्रिड्स में खींची गई। इस तस्वीर में दिख रहे एयरक्राफ्ट की अभी तक पहचान नहीं हो पाई। दो तल के विमान वाली इस तस्वीर की वास्तविकता अबतक कोई नहीं समझ पाया।




कैलिफोर्निया में 1951 में बी. मार्क्वांड नाम के व्यक्ति ने इस तस्वीर को खींचा था। 23 नवंबर 1951 को कैलिफोर्निया में खींची गई इस तस्वीर का मालिक अमेरिकी सेना में तैनात था। इस तस्वीर के 4 दिन बाद ही उसने ठीक वैसी ही एक और तस्वीर खींची। बी. मार्क्वांड की उम्र मौजूदा समय में 88 वर्ष है।




यह भी पढ़ें

सवालों पर भड़के लालू, दे डाली गाली 

सलमान का जंग पर बड़ा बयान, पढ़िए क्‍या कहा

"नौकरी नहीं, दोषियों पर कार्रवाई चाहिए"

..तो मोदी के सामने झुक गए केजरीवाल!

झारखंड में अब एक रुपये में होगी रजिस्‍ट्री

राहुल को इतनी जल्‍दी नानी याद आ गईं

सुनिए नवाज़ शरीफ का जवाब..... 

ट्रम्प हुए 71 साल के,पद संभालते ही बन गए थे 

कहीं ये पाक सेना प्रमुख के आदेश तो नहीं...!



जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

संबंधित खबरें

HTML Comment Box is loading comments...

 


Content is loading...



What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll



Photo Gallery
धार्मिक आस्था- सर्प का दुग्धाभिषेक | फोटो- कुलदीप सिंह

Flicker News


Most read news

 



Most read news


Most read news


खबर आपके शहर की