Neha Kakkar First Time Respond On Question Of Ex Boyfriend Himansh Kohli

दि राइजिंग न्यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ।

 

कूड़ा उठाने वाली गाड़ियों से लेकर तमाम सरकारी बिल्डिंगों के भगवा होने बाद अब भगवा रंग का असर खाकी वर्दी पर दिखने लगा है। अब यह भगवा रंग का चमत्कार है या फिर कोई सोची समझी रणनीति की होमगार्ड डीजी सूर्य कुमार शुक्ल ने लखनऊ विश्वविद्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में राम मंदिर बनाने का संकल्प तक ले लिया। मुख्य अतिथि के तौर पर पहुंचे होमगार्ड पुलिस डीजी के इस कृत्य को लेकर सिय़ासी घमासान मचा तो उन्होंने कुछ घंटे बाद अपना खंडन भी जारी कर दिया। मगर इस पूरे प्रकरण ने प्रदेश सरकार की फजीहत जरूर करानी शुरू कर दी है। कारण है कि मामला राम मंदिर से जुड़ा है, लिहाजा आयोजन कर्ता संगठन से लेकर तमाम नेता सूर्य कुमार शुक्ल के इस कदम में कोई गलती नहीं दिखती। वह इसे धार्मिक आजादी का मसला करार दे रहे हैं।

 

दरअसल, सरकारी सेवा में उच्च पदों पर तैनात अधिकारियों के रूल्स व मैनुअल्स है। इसके तहत उन्हें इस तरह के सार्वजनिक कार्यक्रमों में अनुशासित व्यवहार की अपेक्षा की जाती है लेकिन डीजी होमगार्ड सूर्य कुमार शुक्ल के इस कदम ने सभी को हैरत में डाल दिया। यहां बात भी दीगर है कि सूर्य कुमार शुक्ल पुलिस प्रमुख बनने की होड़ में शामिल थे। वर्तमान पुलिस प्रमुख ओपी सिंह के आने से बाद उनके डीजीपी बनने अटकलें भी तेज हो गईं थी लेकिन बाद में ओपी सिंह केंद्र से वापस आकर डीजीपी पद पर आसीन हो गए।

सूत्रों के मुताबिक यह होमगार्ड डीजी इस बात को लेकर व्यथित थे और इसी कारण से उन्होंने ऐसा कदम उठाया। उधर होमगार्ड डीजी के इस कदम के बाद विपक्ष को सरकार पर हमलावर होने का मौका मिल गया। जबकि हिंदूवादी संगठन डीजी के इस कदम को सही करार देते हुए उनके पक्ष में दिख रहे हैं। इससे सरकार के लिए स्थिति बहुत असहज हो गई है। मामला तूल पकड़ने लगा तो शुक्रवार देर शाम होमगार्ड डीजी ने अपना खंडन भी जारी कर दिया।

 

सरकार के गले की हड्डी

होमगार्ड डीजी का यह कदम प्रदेश की भाजपा सरकार के लिए गले की हड्डी साबित हो रहा है। नियमानुसार इस हरकत के लिए उन पर कार्रवाई होनी चाहिए लेकिन कार्रवाई में हिंदूवादी संगठन ही डीजी के पक्ष में खड़े दिख रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ सरकार इस पर कार्रवाई में कोताही करती है तो फिर आगे भी इस तरह की घटनाएं होने की आशंका बन जाएगी। हालांकि सरकार ने शुक्रवार को ही मामले को प्रकरण को संज्ञान में लेकर इस संबंध पड़ताल शुरू कर दी है।

डीजी साहब की आई सफाई

मामले के तूल पकड़ने के बाद शुक्रवार को केंद्रीय प्रशिक्षण संस्थान होमगार्ड के कमांडेंट संजीव कुमार शुक्ल ने पत्र द्वारा अवगत कराया कि लखनऊ विश्वविद्यालय के लोक प्रशासन विभाग द्वारा पिछले दिनों विचार गोष्ठी का आयोजन किया था। इसमें डीजी होमगार्ड सूर्य कुमार शुक्ल अतिथि के रूप में आमंत्रित किए गए थे। इस में कई मुस्लिम विचारक भी उपस्थित थे और विचार किया गया कि न्यायालय की भावना के अनुरूप मंदिर का निर्माण भविष्य में कराया जाना चाहिए। तदानुसार सभी लोगों ने शांतिपूर्ण वातावरण बनाकर भविष्य़ में इस समस्या का समाधान करने का संकल्प लिया था।

      

 

https://www.therisingnews.com/?utm_medium=thepizzaking_notification&utm_source=web&utm_campaign=web_thepizzaking&notification_source=thepizzaking

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement