Anil Kapoor Will be Seen in The Character of Shah jahan in Next Project

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

 

अब केंद्र सरकार एक विधेयक लाने वाली है जिससे सर्कस में जानवरों के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लग जाएगा। यह विधेयक पास होने के बाद सर्कस में कोई भी जानवर परफॉर्म करता हुआ नहीं दिखेगा। शेर और बाघ जोकि सर्कस से बहुत लंबे समय तक जुड़े रहे हैं, उनपर पहले से ही प्रतिबंध लगा हुआ है। अब घोड़े, गैंडे, हाथी और कुत्ते भी आपको सर्कस में नजर नहीं आएंगे।

यह नियम बनाने के पीछे लंबे समय से पशु कार्यकर्ताओं की मांग है। इससे जानवरों के साथ दुराचार नहीं होगा और न ही उन्हें एक छोटी सी जगह में रहने को मजबूर होना पड़ेगा। साथ ही उन्हें वह करतब नहीं दिखाने होंगे जिससे उन्हें दर्द होता है और वह अपनी प्राकृतिक प्रवृत्ति भूल जाते हैं। इस कानून से उन जानवरों को राहत मिलेगी जो असहनीय दर्द वाली ट्रेनिंग से गुजरते हैं। जानवरों की अनुपस्थिति से सर्कस का व्यवसाय सीमित हो जाएगा और केवल इंसान परफॉर्म करते हुए दिखाई देंगे। जिसकी वजह से इसकी लोकप्रियता में कमी आएगी।

 

पेटा इंडिया के सीईओ मनिलाल वालियते ने कहा, सर्कस में जानवरों के प्रयोग पर प्रतिबंध लगाने से भारत उन देशों की सूची में आ जाएगा जो पहले ही यह निर्णय लेकर दुनिया को बता चुके हैं कि यह प्रगतिशील और संवेदनशील राष्ट्र है जो जानवरों पर होने वाले अत्याचार को बर्दाश्त नहीं करता है। जानवरों पर लगने वाला प्रतिबंध 30 दिनों बाद तब लागू होगा जब पर्यावरण मंत्रालय को सभी हितधारकों से सुझाव मिल जाएंगे। यह उन जानवरों पर भी लागू होग जिनका वर्तमान में सर्कस में प्रयोग हो रहा है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement