Actor Varun Dhawan Speaks on relation With Natasha Dalal in Koffee With Karan

दि राइजिंग न्यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ।

 

राजधानी को स्मार्ट बनाने की होड़ और सड़क पर प्लास्टिक चबाती गाय। यह नजारा आपने जरूर देखा होगा लेकिन आज यही कुछ चीन की हांग्ज्यों शहर की डिप्टी मेयर ने भी देखा। चीन का यह दल गाय के पेट से निकला प्लास्टिक कचरा देख अचरच में पड़ गया। हालांकि दल ने कान्हा उपवन में गायों व पशुओं के रखरखाव और उनके उपचार को बने अस्पताल को देखा और उसे बेहतर बताया।

 

दरअसल कान्हा उपवन में बने चिकित्सालय देखने के दौरान चीन से आए अधिकारियों के दल को वहां पर गायों के आपरेशन तथा उससे निकलने वाले प्लास्टिक कचरे को भी दिखाया गया। यह सारा कचरा अस्पताल में ही रखा है। नगर निगम अधिकारियों के मुताबिक यह प्लास्टिक कचरा खाने के बाद जानवर बीमार हो जाते हैं और आपरेशन कर उसे निकाला जाता है। यह समस्या लगातार सामने आ रही है। प्लास्टिक पर कोई सख्त प्रतिबंध न होने के कारण इस पर किसी तरह का अंकुश भी नहीं लग पा रहा है। इस कारण से जानवर अक्सर कूड़े के साथ प्लास्टिक भी खा जाते हैं।

राजधानी में प्लास्टिक प्रतिबंधित है। प्रतिबंध काफी समय पहले लगा था लेकिन इसका प्रयोग धड़ल्ले से चल रहा है। पूर्ववर्ती सरकार के दौरान कुछ समय के सख्ती के साथ प्रतिबंध लागू किया गया लेकिन उसके बाद इसमें कुछ ढील दी गई और अब आलम यह है कि पहले ज्यादा प्लास्टिक की खपत हो रही है। जिन प्रतिष्ठानों ने प्लास्टिक बंद कर कपड़े और कागज के बैग का इस्तेमाल शुरू किया था, वह फिर पुराने ढर्रे पर लौटने लगे हैं।

 

गाय के झुंड या फिर वीआईपी

सरकार की उदासीनता और नगर निगम के नाकारापन के चलते राजधानी में हर मार्ग गायों का आश्रय बने हुए हैं। हर सड़क पर गायों के झुंड हर वक्त मौजूद रहते हैं।  केवल वीआईपी आगमन के वक्त नगर निगम के दस्ते आवारा जानवर पकड़े दिखते हैं अन्यथा आवारा गायों का ही राज रहता है। नगर निगम के अधिकारी उन्हें देखते नहीं है और इन गाय के सहारे नगर निगम के कूड़े ढेर भी साफ नहीं हो रहे हैं। मुंशीपुलिया हो या सीतापुर रोड। डालीगंज पुल हो या फिर चारबाग। हर मंडी –तिराहे चौराहे पर आवारा पशुओं व गायों का झुंड हमेशा दिखाई देता। मगर नगर निगम को यह दिखाई नहीं देता है।

ताकि गायों को मिले बेहतर इलाज

उधर चीन हांग्ज्यो शहर की डिप्टी मेयर झी शुआंगचेन कान्हा उपवन का निरीक्षण कर वहां की व्यवस्थाओं को देखा। उन्होंने विजिटर्स बुक पर हस्ताक्षर किए और यहां पर व्यवस्था को बेहतर करने में मदद का भी भरोसा दिखाया। इस मौके पर राजधानी की महापौर संयुक्ता भाटिया भी साथ थीं। महापौर के साथ उपस्थित अधिकारियों व उनके प्रतिनिधि के मुताबिक दरअसल चीन में यह सारी व्यवस्थाएं बहुत एडवांस है। उनका सहयोग लेकर हम यहां पर तमाम खामियों को कहीं ज्यादा बेहतर तरीके से दूर कर सकते हैं और इसी के मद्देनजर चीन के दल का आगमन बहुत महत्वपूर्ण है।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement