Rajashree Production Declared New Project After Three Years of Prem Ratan Dhan Payo

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

राजधानी सहित पांच शहरों के बिजली आपूर्ति के निजीकरण के खिलाफ लामबंद बिजली कर्मचारियों और जन संगठनों ने सरकार के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है। विद्युत प्रदेश भर में119 उपकेंद्र मंगलवार को ठप रखने की घोषणा की है और ऐसे में मामूली सा बिजली व्‍यवधान भी जनता के लिए भारी पड़ता है। दरअसल व्‍यवस्‍था को निजी हाथों में देने के संकेत के बाद ही बिजली कर्मचारी लगातार विरोध कर रहे हैं। इसी के मद्देनजर अभियंताओं ने इस बड़ी घोषणा का ऐलान किया है। 

लखनऊ सहित मेरठ, मुरादाबाद, वाराणसी, गोरखपुर सहित पांच शहरों की बिजली व्‍यवस्‍था को सरकार निजी हाथों में सौपें जाने का निर्णय कर चुकी है। इसके बाद से ही अभियंताओं और कर्मचारियों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया था। इसी के मद्देनजर शक्ति भवन से लेकर मध्‍यांचल विद्युत वितरण निगम मुख्‍यालय तक बीते कई दिनों से लगातार विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। आर-पार के लड़ाई की घोषणा करते हुए अभियंताओं ने उपकेंद्रों तक को बंद करने की योजना बना डाली। इसी क्रम में मंगलवार को राजधानी के अलग-अलग क्षेत्रों में स्थित बिजली घर पूरी तरह से बंद रहेंगे। इस दौरान कोई भी कर्मचारी या अभियंता बिजली घर में मौजूद नहीं रहेगा। इस दौरान यदि किसी तकनीकी खामी की वजह से बिजली संकट आता है तो उसे भी ठीक नहीं किया जाएगा। इससे बिजली उपभोक्‍ताओं को गंभीर संकट का सामना करना पड़ सकता है।

दरअसल मंगलवार को विद्युत कर्मचारी संयुक्‍त संघर्ष समिति के आहवान पर राजधानी समेत सूबे के सभी क्षेत्रों के बिजली कर्मचारियों और अभियंताओं ने पूरा दिन कार्य बहिष्‍कार करने का निर्णय लिया है। लेसा अभियंताओं ने बताया कि मंगलवार सभी अभियंता एवं कर्मचारी शक्ति भवन पर इकठ्ठा होकर निजीकरण का विरोध करेंगे। अधीक्षण अभियंता ने बताया कि विरोध प्रदर्शन सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक होगा। इसमें लेसा के 119 बिजली घरों पर कार्य करने वाले अभियंता एवं कर्मचारी शामिल होंगे। उन्‍होंने बताया कि इस समय में सभी बिजली घर पूरी तरह से बंद रहेंगें। इस दौरान यदि किसी भी क्षेत्र में तकनीकी खामी के कारण बिजली संकट उत्‍पन्‍न होता है तो कोई भी कर्मचारी इसे दुरूस्‍त करने नहीं जाएगा। हालांकि उन्‍होंने यह जरूर बताया कि कार्य बहिष्‍कार अवधि के बाद तकनीकी खामी को दूर कर दिया जाएगा।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement