Neha Kakkar Reveald Her Emotional Connection with Indian Idol

दि राइजिंग न्‍यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ

सड़क पर वाहन चलाते वक्त यातायात नियमों की अनदेखी आप के ऊपर भारी पड़ सकती है। कारण है कि अब आप को पहले ज्यादा जुर्माना अदा करना होगा। दरअसल परिवहन विभाग द्वारा लिया जाने वाला जुर्माना पुलिस द्वारा ली जाने वाली शमन राशि से कम है। इस कारण से यातायात पुलिस के चालान के बाद भी लोग पत्रावली न्यायालय से छुड़वाने की मशक्कत में जुट जाते थे। कारण था कि परिवहन विभाग का जुर्माना पुलिस के मुकाबले कम लगता है। मगर अब परिवहन विभाग और पुलिस का शमन शुल्क बराबर होने जा रहा है। इस संबंध में परिवहन विभाग प्रस्ताव तैयार कर शासन को भेज रहा है। इस प्रस्ताव को हरी झंडी मिलने के बाद पुलिस व परिवहन विभाग के शमन शुल्क बराबर हो जाएंगे।

दरअसल सड़क सुरक्षा के मद्देनजर वाहन चालकों पर यातायात नियमों की अवहेलना करने पर सख्त कार्रवाई की हिमायत की गई है। इसी के तहत अब जुर्माने की राशि को बढ़ाने का फैसला भी हुआ लेकिन उस पर अमल नहीं हो सका। उल्लेखनीय यह भी है कि यातायात नियमों को उल्लंघन अथवा ट्रैफिक रेग्युलेशन का उल्लंघन  करने वाली पुलिस द्वारा ली जाने वाली शमन राशि अधिक है। इसी को देखते हुए परिवहन विभाग ने अब शमन राशि को पुलिस के बराबर करने का फैसला किया है।

सड़क सुरक्षा विभाग के सूत्रों के मुताबिक पुलिस द्वारा किए जाने वाले शमन की राशि अपराध की आवृत्ति के बढ़ने पर बढ़ृ जाती है। यानी की समान अपराध की पुनरावृत्ति होने पर जुर्माने को दोगुना या उससे अधिक करने का भी प्रावधान है। हालांकि यह प्रावधान मोटर वाहन अधिनियम में पहले है लेकिन परिवहन विभाग द्वारा इसे प्रभावी तरीके से लागू नहीं कराया जा पा रहा है। अपर आयुक्त सड़क सुरक्षा गंगाफल ने बताया कि पुलिस द्वारा किए जाने वाले शमन के मुकाबले परिवहन विभाग में जुर्माने की दरें कम हैं। यही वजह है कि दोनों विभागों की शमन राशिन को समान करने का फैसला किया गया है। इसमें हेल्मेट, सीट बेल्ट, नो पार्किंग. ट्रैफिक अवरुद्ध करना, ओवरलोडिंग, वर्दी नियमों के उल्लंघन शामिल हैं।

 

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll