Watch Making of Dilbar Song From Satyameva Jayate

दि राइजिंग न्यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ।

 

आपने काफी समय पहले फ्लाइट की टिकट बुक कराई। ऐन रवानगी वाले दिन किन्ही कारणों से फ्लाइट कैंसिल हो गई या लेट हो गई जिससे आपका पूरा कार्यक्रम बिगड़ गया। अमूमन एयरलाइंस इसके लिए केवल क्षमा मांग कर काम चला लेती हैं लेकिन अब ऐसा होने पर यात्रियों को मुआवजा मिलेगा। इसके लिए बीस हजार रुपये तक का प्रावधान किया जा रहा है। इस संबंध में केंद्रीय उड्डयन मंत्रालय ने डीजीसीए ( डायरेक्ट्रेट जनरल आफ सिविल एवीएशन) से प्रस्ताव मांगा है। सूत्रों के मुताबिक यह प्रस्ताव तकरीबन तैयार हो गया है और इसे जल्द ही लागू किया जा सकता है। हालांकि तमाम एयरलाइंस इसका विरोध कर रही हैं।

 

हवाई यात्रियों को पिछले दिनों में एयरलाइंस की मनमानी का शिकार होना पड़ रहा है। उड़ान विलंब से होने के कारण कई बार कनेक्टिंग फ्लाइट छूट जाती है जिससे यात्रियों को काफी असहूलियत उठानी पड़ती है। इसी तरह से कई बार ओवर लोडिंग के कारण यात्रियों की बैगज उतार दिया जाता है। या फिर कंपनी की लापरवाही के कारण से बैगेज दूसरे एयरपोर्ट पर ही रह जाता है और यात्रियों को अगली उड़ान से या उसके बाद बैगेज मिलता है। इसी तरह विमान में यात्री सुविधाओं को लेकर तो पिछले दिनों कई मामले सामने आए थे। उल्लेखनीय बात यह है कि एयरलाइंस यात्रियों के साथ मनमानी व अभद्रता के मामले भी रिकार्ड किए गए और उसकी जांच भी चल रही है। इन्हीं मामलों को देखते हुए केंद्रीय उड्डयन मंत्रालय अब यात्रियों को राहत देने की तैयारी कर रहा है। इसके तहत विमान यात्रा में होने वाली दिक्कत, एयरपोर्ट किसी तरह की परेशानी या फिर उड़ान के लेट होने से कनेक्टिंग फ्लाइट छूटने अथवा फ्लाइट रद होने पर विमानन कंपनी को यात्री को मुआवजा देना पड़ेगा।  

विमानन कंपनियां कर रही है विरोध

हवाई यात्रियों को असुविधा होने की एवज में प्रतिपूर्ति राशि या मुआवजा दिए जाने का कई एयरलाइंस विरोध कर रही हैं। इंडिगो एयरलाइन्स, विस्तारा एयरलाइन्स, स्पाइस जेट सहित कई कंपनियों ने भारत में हवाई सफर सस्ता होने की दलील देते हुए इसका विरोध किया है। कंपनियों ने दलील दी है कि किराया कम होने के कारण से एयरलाइंस कंपनियां को लाभांश बहुत कम है और ऐसे में इस तरह की प्रावधान से सेवाओं को संचालित करना मुश्किल होगा।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll