Home Rising At 8am Latest And Trending Updates Over UP Local Body Elections

जम्मू-कश्मीर: पाकिस्तान सीजफायर उल्लंघन में एक और नागरिक की मौत

हम शहीदों के परिवार के लिए कुछ भी करें वो हमेशा कम ही रहेगा: राजनाथ सिंह

केंद्र सरकार लोकतंत्र की हत्या करने में जुटी है: संजय सिंह

ममता ने PM से की विवेकानंद- बोस जन्मदिवस को नेशनल हॉलिडे घोषित करने की मांग

J&K में हमारी सेना, पैरा और पुलिस समन्वय से कर रही आतंकियों का सफाया: राजनाथ

दो लाख से ज्यादा नगद मिला तो बताना होगा स्रोत

Rising At 8am | 13-Nov-2017 | Posted by - Admin

 

  • निष्पक्ष चुनाव के लिए सतर्क हुई पुलिस  
  • निकाय चुनाव के मद्देनजर हुई व्यवस्था
   
Latest and Trending Updates over UP Local Body Elections

दि राइजिंग न्‍यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ।

 

अगर आप किसी काम से या समारोह के लिए पैसा लेकर जा रहे हैं तो ध्यान रखें कि दो लाख रुपये से अधिक साथ लेकर नहीं चलें। दरअसल नगरीय निकाय चुनाव के मद्देनजर निर्वाचन आयुक्त ने दो लाख रुपये से अधिक नगद रकम लाने – ले जाने पर रोक लगा दी है। जांच में अगर इससे ज्यादा रकम मिलती है तो पकड़े जाने पर बरामद पैसे के स्रोत आदि का विवरण बताना पड़ेगा। यही नहीं आयकर विभाग भी इस मामले में आपसे पूछताछ कर सकता है। इस संबंध में आदेश भी जारी हो गए हैं। दूसरी तरफ निकाय चुनाव में दो लाख रुपये से अधिक लेकर चलने पर रोक से व्यापारियों ने नाखुशी जाहिर की है।

 

दरअसल इस समय सहालग का मौसम चल रहा है। 14 दिसंबर तक अच्छी सहालग हैं और इस कारण से बाजारों में खरीदारी भी पूरे शबाब पर है। राजधानी में इस मौसम में बड़ी संख्या में लोग आसपास के शहरों व ग्रामीण क्षेत्रों से खरीदारी करने आते हैं। इस कारण उनके पास नगदी भी ज्यादा होती है। ऐसे में दो लाख रुपये की सीमा तय हो जाने से व्यापारी इसका असर कारोबार पर पड़ने की संभावना ही जाहिर कर रहे हैं।

सराफा कारोबारी प्रदीप अग्रवाल के मुताबिक शादी आदि में मध्यम वर्ग द्वारा कुछ सोना जरूर खरीदा जाता है। इसके अलावा दूर दराज से आने वाले लोग आभूषण –गहनों के साथ ही वस्त्र आदि की खरीदारी भी करते हैं। इस लिहाज से देखा जाए तो दो लाख रुपये की सीमा बहुत कम है। सरकार को इसमें कुछ रियायत देनी चाहिए। या फिर इसकी व्यवस्था करनी चाहिए कि उपभोक्ता को किसी तरह की दिक्कत पेश नहीं आए।

 

पुलिस हुई सक्रिय

 

निर्वाचन कार्यालय का आदेश जारी होने के बाद पुलिस ने भी पूरे प्रदेश में जांच शुरू कर दी है ताकि चुनाव को पैसे के जरिए प्रभावित नहीं किया जा सकें। इस संबंध में अपर पुलिस महानिदेशक ने भी सभी आईजी-डीआईजी व एसएसपी को अपने अपने क्षेत्र में जांच कराने के निर्देश दिए हैं। खास कर प्रत्याशियों व उनसे जुड़े लोगों के वाहनों की जांच को कहा गया है ताकि पैसे को लेनदेन पर अंकुश लगाया जा सकें।

तीसरी आंख जुटा रही है जानकारी

 

पुलिस के साथ ही निर्वाचन आयोग के निर्देश पर गठित वीडियो ग्राफी टीमें भी चुनाव प्रचार व प्रत्याशियों की गतिविधियों की जानकारियां जुटा रही हैं। अधिकारियों के मुताबिक प्रत्याशियों द्वारा किए जाने वाले आयोजनों तथा उसमें वितरण होने वाली प्रचार सामग्री से लेकर कार्यकर्ताओं को लाने – जाने में प्रयुक्त वाहनों से लेकर मतदाताओं को दिए जाने वाली वस्तुओं की वीडियो ग्राफी हो रही है। यह सारा ही व्यय प्रत्याशी के निर्वाचन व्यय में शामिल किया जाएगा।

 

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555







Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news