Actress Jhanvi kapoor  Shares The Image of Dhadak Sets on Social Media

दि राइजिंग न्‍यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ।

 

कामर्शियल टैक्स विभाग के एक वरिष्ठ अपर आयुक्त मगर निर्वाचन ड्यूटी में चपरासी। लघु सिंचाई विभाग जवाहर वन में चालक संदीप कुमार को निर्वाचन में दो ड्यूटी मिल गईं। पहले उन्हें निर्वाचन के मद्देनजर जिलाधिकारी में वाहन सहित उपस्थित होने की ड्यूटी दी गई और उसके बाद उन्हें प्रथम मतदान अधिकारी की ड्यूटी  भी प्रदान कर दी गई। इसी तरह से महिला कल्याण निदेशालय के उर्दू अनुवादक एवं वरिष्ठ सहायक जियाउल हक को मतदान अधिकारी चतुर्थ की ड्यूटी प्रदान की गई है।

 

दरअसल कृषि विभाग, लघु सिंचाई विभाग, महिला कल्याण विभाग तथा खाद्य रसद विभाग में कर्मचारी अपनी ड्यूटी देख कर हैरत में है। नगरीय निकाय के चुनाव की तैयारियों में विभागों की उदासीनता तथा साफ्टवेयर की खामियों के चलते तमाम लोगों को नियम विरुद्ध ही ड्यूटी प्रदान कर दी गई है। ड्यूटी चार्ट मिलने के बाद कर्मचारी भी हैरत में है। कई विभागों के वाहन चालक बिना तय वेतनमान की आहर्ता के ही प्रथम मतदान अधिकारी बना दिए गए हैं। दो तीन लोगों को एक तरफ वाहन सहित हाजिर होने के निर्देश निर्वाचन विभाग ने भेजे हैं तो दूसरी तरफ उन्हें मतदान कर्मी के रूप में ड्यूटी अलाट कर दी गई है। इसके लेकर मंगलवार को जिलाधिकारी कार्यालय में लोगों की भीड़ जुटी रहीं।

अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) के पास पहुंचे कर्मचारियों ने आक्रोश भी जाहिर किया। उनके मुताबिक केवल साफ्टवेयर की गड़बड़ी के कारण उन्हें परेशान होना पड़ रहा है जबकि प्रशासन के अधिकारी इसमें विभागीय सुस्ती को ज्यादा जिम्मेदार मान रहे हैं।

 

इस कारण हुई गड़बड़

 

अपर जिलाधिकारी प्रशासन श्रीप्रकाश गुप्ता ने बताया दरअसल मतदान कर्मियों की ड्यूटी निर्वाचन विभाग के साफ्टवेयर ईएसडब्ल्यू द्वारा लगाई जाती है। इसमें फीडिंग विभागों द्वारा भेजी जाने वाली सूची के आधार पर होता है। विभागों से निर्धारित प्रारुप में कर्मचारियों की सूची मांगी गई थी। इसकी फीडिंग होने के बाद  विभागों को ड्यूटी चेक करने के निर्देश दिए गए थे लेकिन कहीं पर भी इसे देखा नहीं गया। जहां पर ज्यादा गड़बड़ी दिख रहीं है, वहां इसकी वजह कर्मचारियों की सूची निर्धारित फार्मेट न भेजा ही दिखाई दे रहा है। इसी कारण से यह स्थिति उत्पन्न हो रही है। 

हीलाहवाली से बढ़ गया काम

 

विभागों की लापरवाही व हीलाहवाली के चलते जिला प्रशासन में एक काम बढ़ गया है। दरअसल साफ्टवेयर व गलत जानकारी के कारण जिन कर्मियों की ड्यूटी गलत लग गई है या फिर रिपीट हो गई है, उनके संशोधन का काम भी मंगलवार को शुरू कर दिया गया। अपर जिलाधिकारी ने बताया कि जिन मामलों को संज्ञान में लाया जा रहा है, उनका निदान कराया जा रहा है।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement