Actress Parineeti Chopra is also Going to Marry with Her Rumoured Boy Friend

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

 

हर साल की तरह इस बार भी पूरा विश्व एड्स दिवस मना रहा है। विश्व एड्स दिवस का उद्देश्य एचआईवी संक्रमण की वजह से होने वाली बीमारी “एड्स” के बारे में जागरुकता बढ़ाना है। एड्स वर्तमान युग की सबसे बड़ी स्वास्थ्य समस्याओं में से एक है। UNICEF की रिपोर्ट के मुताबिक 36.9 मिलियन लोग HIV के शिकार हो चुके हैं। भारत सरकार द्वारा जारी किए गए आकड़ों के अनुसार भारत में एचआईवी (HIV) के रोगियों की संख्या लगभग 2.1 मिलियन है।

ऐसे हुई विश्व एड्स दिवस की शुरुआत

विश्व एड्स दिवस सबसे पहले अगस्त 1987 में जेम्स डब्ल्यू बुन और थॉमस नेटर नाम के व्यक्ति ने मनाया था। जेम्स डब्ल्यू बुन और थॉमस नेटर विश्व स्वास्थ्य संगठन में एड्स पर ग्लोबल कार्यक्रम के लिए अधिकारियों के रूप में जिनेवा, स्विट्जरलैंड में नियुक्त थे। जेम्स डब्ल्यू बुन और थॉमस नेटर ने WHO के ग्लोबल प्रोग्राम ऑन एड्स के डायरेक्टर जोनाथन मान के सामने विश्व एड्स दिवस मनाने का सुझाव रखा। जोनाथन को ये विचार अच्छा लगा और उन्होंने 1 दिसंबर 1988 को विश्व एड्स डे मनाने के लिए चुना। बता दें कि आठ सरकारी सार्वजनिक स्वास्थ्य दिवसों में विश्व एड्स दिवस शामिल है।

इन वजहों से होता है एड्स

  • अनसेफ सेक्स करने से।

  • संक्रमित खून चढ़ाने से।

  • HIV पॉजिटिव महिला के बच्चे में।

  • एक बार इस्तेमाल की जानी वाली सुई को दूसरी बार यूज करने से।

  • इन्फेक्टेड ब्लेड यूज करने से।

एचआईवी के लक्षण

  • बुखार

  • पसीना आना

  • ठंड लगना

  • थकान

  • भूख कम लगना

  • वजन घटना

  • उल्टी आना

  • गले में खराश रहना

  • दस्त होना

  • खांसी होना

  • सांस लेने में समस्‍या

  • शरीर पर चकत्ते होना

  • स्किन प्रॉब्‍लम

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement