Ali Asgar Faced Molestation in The Getup of Dadi

दि राइजिंग न्यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ।

 

राजधानी में धनतेरस पर्व पर औसतन साठ किलो सोने का कारोबार होता है। मगर, सुभाष मार्ग पर पड़े सराफा एवं रियल इस्टेट कारोबारी के यहां छापे से बाजार का गणित सामने आ गया। करीब एक क्विंटल सोने की बरामदगी के बाद सवाल यह है कि इतना सोना आया कहां से। यही नहीं, सोना आया कहां से यह सवाल सबसे ज्यादा अहम हो गया है। कारण है कि बैंकों से सोने से बिक्री में नोटबंदी के काफी गिरावट दर्ज की गई है। मगर, बाजार में किसी भी तरह से सोने की आपूर्ति में कोई कमी नहीं है।

दरअसल, सुभाष मार्ग पर सराफा कारोबारी के ठिकानों पर छापेमारी के बाद हुई बरामदगी से बाजारों में चल रही समानांतर व्यवस्था की कलई खुल गई है। सराफा बाजारों के सूत्रों की मानें तो इस तरह के कारोबारियों की संख्या दर्जनों में है जो बाजार पर नियंत्रण कर रहे हैं। यही कारण है कि सरकार भले ही कालेधन पर लगाम लगाने की बात कर रही है, लेकिन कारोबारी उसका उपहास करते नजर आते हैं।

 

 

सराफा कारोबारियों के मुताबिक इतना सोना कहां से खरीदा गया और किनसे खरीदा गया, इसकी पड़ताल की जाए तो इस खेल में बहुत कुछ सामने आ सकता है। आयकर विभाग के अधिकारी मानते हैं कि राजधानी में सौ किलो से ज्यादा स्टाक दिखाने वाले कारोबारियों की संख्या बहुत कम है। फिर इतना सोना कैसे एकत्र हुआ और कैसे खरीदा गया, यह बड़ा सवाल बन जाता है।

आयकर विभाग के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक यह सही है कि इस रेड में बड़ी सफलता मिली है। इसके साथ ही सराफा कारोबार में चल रहे समानांतर व्यापार की बात भी प्रमाणित होती दिखाई दे रही है। उन्होंने कहा कि तमाम दस्तावेजों व साक्ष्यों की जांच हो रही है और इससे जुड़ी तमाम कड़ियां अभी सामने आएंगी।

फोटो वायरल होने से सनसनी

सराफा कारोबारी कन्हैयालाल के ठिकानों पर छापेमारी की वायरल फोटो को लेकर बाजार में सनसनी फैल गई है। अधिकारी फिलहाल इन फोटो को लेकर कुछ भी नहीं कहते हैं, लेकिन उनका कहना है कि यह जांच का विषय है कि फोटो असली है या नकली। यह जांच के बाद ही तय होगा। उधर, छापे के दौरान कारोबारी के यहां के फोटो वायरल होने के बाद गुरुवार को आयकर विभाग के कई बड़े अधिकारी मौके पर पहुंचे। कारोबारी की जांच के साथ इस बात की भी जांच की जा रही है कि आखिर फोटो किसने बाहर भेजे। 

सराफा कारोबारियों की नींद उड़ी

कन्हैयालाल रस्तोगी के यहां छापे के बाद सराफा बाजार के कारोबारियों की नींद उड़ गई है। बाजार के कारोबारियों के मुताबिक रेड के बाद जितनी बरामदगी हुई है, उससे बाजार में कुछ और लोगों के नाम सामने आ सकते हैं। इसके अलावा सराफा कारोबारी भी अब आयकर विभाग के रडार पर आ गए हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement