Actress Sara Ali Khan Reached Dehradun Police Station With Amrita Singh In Property Dispute

दि राइजिंग न्‍यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ।

सड़क हादसों में लगातार बढ़ रही मौतों पर अंकुश लगाने के मकसद से वाहनों से क्रैश गार्ड हटाने का आदेश जारी हुआ है। इसके लिए वाहन चालकों को स्वेच्छा से ही अपने क्रैश गार्ड हटाने के लिए कहा गया है। उसके बाद प्रवर्तन विभाग इन वाहनों पर कार्रवाई करेगा। कार्रवाई के दौरान चालान के साथ ही गार्ड को उतारने या जब्त करने की कार्रवाई की जाएगी।

अब जान लीजिए कि यह आदेश क्यों जारी हुआ। दरअसल अब तकरीबन सभी चौपहिया वाहनों में एयरबैग दिए जा रहे हैं। एयरबैग वाहन जब किसी दूसरे वाहन से टकराते हैं तो खुल जाते हैं। मगर वाहनों में क्रैश गार्ड लगा होने के कारण यह एयरबैग नहीं खुल पाते हैं। नतीजतन अक्सर वाहन चालक या उसमें सफर कर रहे लोगों की जान चली जाती है। इसी के मद्देनजर वाहनों से क्रैश गार्ड हटाने के लिए सड़क परिवहन मंत्रालय से आदेश जारी किया है।

संभागीय परिवहन अधिकारी अशोक कुमार सिंह ने बताया कि क्रैश गार्ड के कारण वाहनों के एयरबैग नहीं खुल पाते हैं। इस कारण से जनहानि भी ज्यादा हो रही है और इस पर अंकुश लगाने के मकसद से ही वाहनों से क्रैश गार्ड हटाने के आदेश हुए हैं।

टेंपो से भी हटेंगे गार्ड

राजधानी सहित पूरे प्रदेश में टेंपों की सुरक्षा के मद्देनजर टेंपो की बाडी के चारों तरफ मोटा एंगल लगा दिया जाता है। इतना ही नहीं, तमाम टेंपों में तो आगे के मेडगार्ड के तौर पर कई किलो वजनी और बड़ा जाल डिजाइन के तौर पर लगा दिया जाता है। अक्सर यह दूसरे वाहनों के लिए खतरा बन जाता है जबकि अपने इसी कवच के कारण टेंपों मनमाने तरीके से फर्राटा भरते हैं। परिवहन अधिकारियों बताया कि क्रैशगार्ड व अन्य गार्ड सभी वाहनों से हटाए जाने हैं और टेंपो से भी इन्हें हटवाया जाएगा। इसके संगठनों को पहले स्वेच्छा से हटाने को कहा जाएगा और उसके बाद प्रवर्तन इकाई द्वारा अभियान चलाकर उन्हें उतारा जाएगा।

करोड़ों का है कारोबार

वाहनों में विभिन्न डिजाइन के क्रैशगार्ड लगाए जाते हैं और एसेसरीज मार्केट में इसका करोड़ों रुपये का कारोबार है। गाड़ी बंफर के ऊपर लगने वाले इन गार्ड की कीमत 1500 रुपये से लेकर दस हजार रुपये तक है। जबकि एसयूवी गाड़ियों के गार्ड तो और भी ज्यादा महंगे हैं। क्रैश गार्ड पर रोक लग जाने से अब इनका इस्तेमाल नहीं हो पाएगा। लालबाग के कारोबारी परवेज के मुताबिक इससे सबसे ज्यादा नुकसान छोटे कारोबारियों को होगा जिन्होंने मांग को देखते हुए गार्ड खरीद रखें हैं। अब ये निष्प्रोज्य हो गए हैं, लिहाजा अब इनकी कीमत कुछ नहीं रह गई है।

  

 

https://www.therisingnews.com/?utm_medium=thepizzaking_notification&utm_source=web&utm_campaign=web_thepizzaking&notification_source=thepizzaking

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement