Coffee With Karan Sixth Season Teaser Released

दि राइजिंग न्‍यूज

आशीष सिंह

लखनऊ।

 

राजधानी का जाम, अतिक्रमण, सड़कों पर फैली गंदगी और जगह-जगह जलता कूड़ा अपनी पहचान बना चुका है। अब इसी पहचान के बीच शहर में 21 और 22 फरवरी को इंटरनेशनल इनवेस्‍टर मीट का आयोजन किया जा रहा है। इस मीट में विश्‍वभर के प्रतिनिधि और उनका स्‍टॉफ भी आएगा, लेकिन सवाल यह है कि क्‍या राजधानी की तस्‍वीर को ऐसे ही पेश किया जाएगा?

मामले पर एडीएम पश्चिम संतोष कुमार वैश्‍य ने जाम, अतिक्रमण और गंदगी से निपटने के लिए कार्ययोजना तैयार करने की बात कही है। उन्‍होंने कहा कि जल्‍द ही संबंधित विभागों के साथ बैठक होगी जिससे इन समस्‍याओं को हल किया जा सके। आइए एक नजर डालते हैं शहर की कुछ खास जगहों की विशेष समस्‍याओं पर...।

 

 

चारबाग

ट्रेन से आने वाले यात्रियों के लिए चारबाग राजधानी का प्रवेश द्वार है, लेकिन यहां का जाम और अतिक्रमण ट्रैफिक की हालत खस्‍ता किए है। जहां एक ओर दो-दो रेलवे स्‍टेशन, बस स्‍टेशन और मेट्रो स्‍टेशन होने के कारण यात्रियों की भारी भीड़ बनी रहती है तो वहीं दूसरी ओर फुट ओवर ब्र‍िज के नीचे से लेकर सड़कों के दोनों ओर ई-रिक्‍शा, ऑटो, टेंपों और परिवहन विभाग की बसें जहां की तहां खड़ी रहती हैं। मेट्रो स्‍टेशन के ठीक नीचे ठेले, खोमचे, परिवहन विभाग की बसें और दुकानें सजी रहती हैं। चौकी के आसपास पुलिसकर्मी तो होते हैं लेकिन कोई भी इन्‍हें हटाने के लि‍ए सड़क पर नहीं आते।

 

फोटो- अभय वर्मा

 

 

इमामबाड़ा

इमामबाड़ा हमेशा ही पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बना रहा है, लेकिन इन दिनों यह ऐतिहासि‍क स्‍थल अतिक्रमण से ग्रस्‍त है। प्रवेश द्वार पर ही वाहनों का अवैध स्‍टैंड संचालित किया जा रहा है, जबकि गेट के सामनें कई तहर की दुकानें और अन्‍य वाहन खड़े रहते हैं। ई-रिक्‍शा, तांगा, इक्‍का और अन्‍य कॉमर्शियल वाहन भी खड़े होकर सवारियों का इंतजार करते रहते हैं। ना केवल इमामबाड़ा बल्कि रूमी गेट, पिक्‍चर गैलरी, छोटा इमामबाड़ा आदि जगहों पर भी फुटपाथ के दुकानदारों ने ट्रैफिक का स्‍वरूप ही बिगाड़ दिया है। नींबू पार्क के पास लगने वाली कबूतर, बकरे आदि की दुकानों ने सड़कों पर अतिक्रमण कर रखा है, जिससे आए दिन ट्रैफिक जाम होता है। 

 

फोटो- अभय वर्मा

 

 

नख्‍खास तिराहा

चरक चौराहे से नख्‍खास की ओर जाने वाले मार्ग पर चिडि़या बाजार लग रही है। यह बाजार पूरी तरह से सड़क के ऊपर ही सजती है। इसी के ठीक बगल से ही नादान महल मार्ग के लिए टेंपों, ई-रिक्‍शा भी खड़े रहते हैं। इससे ट्रैफिक जाम से लेकर कई तहर की परेशानियां रोज ही होती रहती हैं। बाजार के ठीक सामने ही नख्‍खास चौकी है लेकिन यह अतिक्रमण ना तो चौकी इंजार्च को दिखता है और ना ही किसी पुलिस वाले को।

 

फोटो- अभय वर्मा

 

फोटो- अभय वर्मा

 

 

चौक चौराहा, गोलदरवाजा

चौक चौराहे को लाखों रुपये खर्च करके फिर से संवारा जा रहा है, लेकिन सड़कों पर दुकानें और ट्रैफिक जाम ने यहां की हालत बेहद खस्‍ता कर दी है। दोनों ओर खड़े होते वाहनों और ठेले खोमचे ने ट्रैफिक को ध्‍वस्‍त कर दिया है। यही कारण है कि आए दिन जाम लगा रहा है। चौकी के पीछे अवैध और ठीक सामने पार्किंग बना दी गई जिससे वहां निकलने के लिए जगह और कम पड़ गई। इतना ही नहीं पास में बने गोलदरवाजे भी जाम में मुख्‍य भूमिका निभा रहा है।

 

फोटो- अभय वर्मा

 

फोटो- अभय वर्मा

 

कभी मिठाई की दुकान के डिलेवरी वाहन सड़कों पर खड़े होते हैं तो कभी ग्राहकों की कारें पार्क होती है। ऐतिहासिक विरासत को संभाले गोलदरवाजा भी अवैध निर्माण और कब्‍जेदारों से भरा पड़ा है। जिला प्रशासन ने गोलदवाजे में रहने वाले लोगों की सूची तैयार कराने का दावा तो किया लेकिन हीला-हवाली के चलते ना तो सूची बन पाई और ना ही कब्‍जेदारों के खिलाफ कार्रवाई हो पाई। इतना ही नहीं कई दुकानदारों ने तो नवीनीकरण के नाम पर बेसमेंट तक खोद डाले और दुकानें खोलकर संचालित करने लगे।

 

 

अमीनाबाद

घूमने वालों के लिए अमीनाबाद का व्‍यस्‍त बाजार बेहद लुभाता है। सभी तरह की खरीदारी के लिए अमीनाबाद सबसे मुफीद जगह माना जाता है, लेकिन सड़कों पर सजी दुकानें और डंपिंग बनी पार्किंग यहां की सबसे बड़ी समस्‍या हैं। पार्किंग में जहां पुलिस की पकड़ी हुई गाडि़यों से लेकर मोहल्‍ले वालों की गाडि़यां खड़ी हो रही हैं तो   वहीं सभी चौराहे अवैध पार्किंग में तब्‍दील हो गए हैं। हाल यह है कि सड़क पर पैदल चलना भी दूभर हो गया है। आने वाले लोग दुकान के बाहर ही अपने वाहन खड़े कर खरीदारी करते हैं जिससे सामान्‍य यातायात भी नहीं चल पाता है।  

 

फोटो- अभय वर्मा

 

 

जानिए इनवेस्‍टर मीट के महत्‍व को-

अमेरिका, कनाडा, नेपाल फिजी जैसे देशों के निवेशक और प्रतिनिधि यूपी में होने वाली दो दिवसीय इनवेस्‍टर मीट में भाग लेंगे। इसके लिए देशभर में रोड शो भी किए जा रहे हैं। इसी क्रम में 18 दिसंबर को बेंगलुरु, 19 को हैदराबाद, 21 को अहमदाबाद, 22 को मुंबई और पांच जनवरी को कोलकाता में रोड शो होगा। उल्‍लेखनीय है कि इस मीट का आयोजन 21 और 22 फरवरी को राजधानी के इंदिरा गांधी प्रतिष्‍ठान में आयोजित किया जाएगा। इसमें कई देशों के राजदूत, व्यापारिक संगठन, विदेशी निवेशक, उद्यमी एवं अन्य प्रतिनिधि भाग लेगें। मीट के जरिए प्रदेश में आईटी क्षेत्र, इलेक्ट्रॉनिक उत्‍पाद, फिल्‍म, नई ऊर्जा, एवं स्टार्टअप, हैण्डलूम, टैक्सटाइल्स आदि पर जोर दिया जाएगा।

 

 

इनवेस्‍टर मीट बनाएगी प्रदेश की छवि-

राजधानी में होने वाली इनवेस्‍टर मीट से प्रदेश की छवि तैयार होगी। यहां के काम और ट्रैफिक, अतिक्रमण और साफ-सफाई आने वाले प्रतिनिधियों में यह विस्‍वास दिलाएंगे कि उनका निवेश कितना और किस स्‍तर तक सही  होगा। इसलिए जिला प्रशासन से लेकर सभी एजेंसियों को युद्ध स्‍तर पर काम करना होगा ताकि आने वाले लोगों के मन में एक बेहतर लखनऊ रखा जा सके।  

 

 

“इनवेस्‍टर मीट को देखते हुए पुराने लखनऊ को जाम, अतिक्रमण से मुक्‍त काराया जाएगा ताकि आने वाले लोगों को कोई समस्‍या ना हो। इसके लिए जल्‍द ही बैठक होगी। इसमें व्‍यापारी नेता, नगर-निगम, पीडब्‍ल्‍यूडी, ट्रैफिक पुलिस और अन्‍य संबंधित विभागों को शामिल किया जाएगा। इस दौरान बाजार को व्‍यवस्थित करने से लेकर गंदगी एवं अन्‍य समस्‍याओं पर बिंदुवार चर्चा होगी और इसका निस्‍तारण किया जाएगा।”

संतोष कुमार वैश्‍य

अपर जिलाधिकारी, पश्चिम  

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement