Box Office Collection of Dhadak and Student of The Year

दि राइजिंग न्‍यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ।

 

सरकार द्वारा सोने पर आयात शुल्क लगाए जाने के बाद से ही पूरे प्रदेश में सोने की तस्करी बढ़ गई है। आलम यह है कि बैंक से सोना अपेक्षाकृत बहुत कम निकलने के बाद भी बाजारों में सोने की किसी तरह की कमी नहीं  हुई। इसकी वजह है कि खाड़ी देशों व नेपाल से सोने की तस्करी एकदम से बढ़ गई। चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर ही पिछले एक साल में 16 किलो से अधिक तस्करी की सोना पकड़ा गया। अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत सवा चार करोड़ से अधिक बताई जाती है। यह बरामदगी कस्टम विभाग द्वारा की गई।

सराफा कारोबार से जुड़े लोगों के मुताबिक खाड़ी देशों के अलावा इस वक्त नेपाल से तो बड़े पैमाने पर सोने मंगाया जा रहा है। सड़क मार्ग से जुड़ा होने के साथ ही नेपाल में प्रतिदिन लोकल आने जाने वालों की बड़ी संख्या रहती है। इसी का फायदा सोने की तस्करी से जुड़े गिरोह उठा रहे हैं। दरअसल बाहर से सोना लाए जाने पर एयरपोर्ट पर जांच से गुजरना होता है और उसके मुकाबले नेपाल पर सड़क मार्ग से सोना लाना ज्यादा मुफीद और सुरक्षित रहता है। इसके अलावा लोकल लोगों के जरिए कम मात्रा में सहजता से सोना पहुंच रहा है।  

दस फीसद का सीधा मुनाफा

अंतरराष्ट्रीय बाजार के मुकाबले भारत में सोना करीब दस फीसद महंगा है। यानी भारत में एक किलो सोना करीब तीस लाख रुपये कीमत का होता है जबकि काठमांडू (नेपाल) में यह 2.70 लाख से कम का पड़ रहा है। यानी एक किलो सोने पर तीस हजार और दस ग्राम पर तीन हजार का सीधा मुनाफा। मुनाफे का यह गणित ही सोने की तस्करी के लिए प्रोत्साहन का काम कर रहा है। इस कारण से इसकी तस्करी में इजाफा हुआ है।

महज बीस फीसद ही बैंक का सोना

बाजारों में कुल खपत का महज बीस फीसद सोना बैंकों से लिया जा रहा है। बाकी का सोना तस्करी से आ रहा है। तस्करी के इस सोने से सरकार हो भी राजस्व की बड़ी चपत लग रही है। वहीं तस्करी से जुड़े कारोबारी दिन दूनी रात चौगुनी तरक्की कर रहे हैं। लखनऊ, कानपुर, आगरा से लेकर कोलकाता –मुबंई तक यह सुनियोजित तस्करी का कारोबार चल रहा है। सराफा कारोबारियों के मुताबिक वर्तमान में नेपाल और बांग्लादेश से बड़े पैमाने पर तस्करी हो रही है। कोलकाता से सोना लखनऊ तक निर्बाध पहुंच रहा है। खास बात यह है कि तस्करी के इस सोने की कोई कमी भी नहीं है और वांछित मात्रा हर वक्त उपलब्ध रहता है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll