Home Rising At 8am Case Of Smuggling In Lucknow City

दिल्लीः स्कूल वैन-दूध टैंकर की टक्कर, दर्जन से ज्यादा बच्चे घायल, 4 गंभीर

पंजाबः गियासपुर में गैस सिलेंडर फटा, 24 घायल

कुशीनगर हादसाः पीएम मोदी ने घटना पर दुख जताया

बंगाल पंचायत चुनाव में हिंसाः बीजेपी करेगी 12.30 बजे प्रेस कांफ्रेंस

कुशीनगर हादसे में जांच के आदेश दिए हैं- पीयूष गोयल, रेल मंत्री

तीन ब्रोकर और स्टेशन क्लीयर

| Last Updated : 2018-03-15 09:51:14

 

  • चारबाग पार्सल घर पर तीन ब्रोकर ने संभाली टैक्सचोरी की कमान

  • करोड़ों रुपये का माल छुड़ा ले गए ब्रोकर

  • जुर्माना जमा कर अधिकारियों थपथपा रहें पीठ


Case of Smuggling in Lucknow City


दि राइजिंग न्यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ।

 

तीन ब्रोकर (एजेंट) चारबाग रेलवे स्टेशन पर टैक्सचोरी का सिंडीकेट चला रहे हैं। खास बात यह है कि पिछले दिनों हुई छापेमारी में पकड़े गए करोड़ों रुपये के माल को भी इन तीन ब्रोकरों ने सुरक्षित छुड़ा कर व्यापारियों तक पहुंचा दिया और व्यापारी भी बिना सामने अपना माल पा गए। खास बात यह है कि इन एजेंटों से वाणिज्य कर विभाग के अपर आयुक्त (एसआईबी) एके राय भी परचित नहीं है बल्कि इसमें उनकी भूमिका होने की पुष्टि करते हैं लेकिन कार्रवाई के नाम पर नियमों की कमी बता देते हैं। ऐसा तब है जबकि छापेमारी में सारी स्थिति साफ हो चुकी है लेकिन चारबाग स्टेशन पर टैक्सचोरी के माल का परिवहन पहले की तरह से बदस्तूर जारी है।

 

इस संबंध में दि राइजिंग न्यूज द्वारा की गई पड़ताल में यहियागंज, अमीनाबाद और चारबाग के एक एजेंट की सूचनाएं सामने आईं थी। जहां केवल रेलवे बिल्टी पर ही माल सुरक्षित गोदाम तक पहुंचान का सौदा हो रहा है। खास बात यह है कि पिछले दिनों जब्त किए गए माल को छुड़ाने के लिए वाणिज्य कर विभाग में लगाए गए तमाम ड्राफ्ट गिने चुने लोगों के नाम पर हैं और इनका अपना व्यवसाय महज दिखावटी है। सवाल यह है कि छोटा मोटा कारोबार करने वाले ये एजेंट व्यापारी कैसे करोड़ों रुपये का माल छुड़ा ले गए, इसका जवाब अधिकारियों के पास भी नहीं है। अधिकारी इतना जरूर कहते हैं कि जीएसटी के तहत जो जुर्माना पेनाल्टी वसूली जा रही है, वह आनलाइन है और अगर कोई ज्यादा पैसा जमा कराने वाले अपने आप आयकर के दायरे में आएंगे। बाते चाहे जो हों लेकिन यहियागंज से लेकर अमीनाबाद तक रोज सुबह लगने वाले पार्सलों के ढेर वाणिज्य कर विभाग की सांठगांठ का परदाफाश कर देती है।

वाणिज्य कर विशेष अनुसंधान इकाई अपर आयुक्त (ग्रेड टू) एके राय के मुताबिक चारबाग स्टेशन पर हुई छापेमारी के दौरान तीन ब्रोकरों के नाम सामने आए हैं। ये अमीनाबाद, यहियागंज व चारबाग के हैं। इन लोगों के द्वारा यहां काकस बना कर टैक्सचोरी का खेल खेला जा रहा है लेकिन इन पर कार्रवाई के लिए रणनीति नहीं है। अलबत्ता पहली अप्रैल से रेलवे में ई वे बिल अनिवार्य हो जाने के बाद यह स्वतः समाप्त हो जाएगा।

 

अधिकारियों की भी सेटिंग

खास बात करोड़ों रुपये का टैक्सचोरी का माल बरामद होने के बाद भी चारबाग स्टेशन पर वाणिज्य कर विभाग की जांच टीमें अपनी सुविधानुसार ही पहुंचती है। इस कारण से टैक्सचोरी का खुला खेल लगातार जारी है। खास बात यह है कि बिना प्रपत्र –टैक्स के आने वाले माल को बाहर निकालने के लिए निर्धारित शुल्क में एक हिस्सा इन अधिकारियों की जेब में पहुंच रहा है। यही कारण है कि स्टेशन पर किसी तरह की रोकटोक नहीं होती है और यहां पर एजेंट पहले की तरह से अपने काम को अंजाम दे रहे हैं।

बंटे हुए क्षेत्र

चारबाग स्टेशन पर चल रहे टैक्स चोरी के खेल में सक्रिय एजेंटों ने अपने इलाके भी बांट रखे हैं। बाजार के सूत्रों के मुताबिक यहियागंज, सुभाष मार्ग आदि इलाकों में सामान की आपूर्ति यहियागंज के एक एजेंट के हवाले हैं तो दूसरे के पास अमीनाबाद में होजरी, दवा व अन्य सामान शामिल है। चारबाग में आने वाले इलेक्ट्रानिक, मोबाइल एसेसरीज व आटो पार्टस का काम चारबाग में नाका चौराहे के पास ही गोदाम करने वाला एजेंट डील करता है। इन तीनों के जरिए चारबाग स्टेशन पर पूरा खेल चल रहा है। खास बात यह है कि इसमें कई बेनामी कूरियर कंपनियां भी शामिल हैं और ये भी टैक्स चोरी का माल स्टेशन से निकाल कर व्यापारियों तक पहुंचाने का काम कर रही है।



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...







खबरें आपके काम की