Home rising at 8am Case Of Fake Advertisement By Coaching Institute

चित्रकूट में डकैत बबली कोल के साथ मुठभेड़ में एक सब इंस्पेक्टर शहीद

तमिलनाडु: NEET में सुधार को लेकर चेन्नई में डीएमके का प्रदर्शन

सुप्रीम कोर्ट का फैसला- निजता है मौलिक अधिकार

निजता पर SC के फैसले को कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने बताया आजादी की बड़ी जीत

पंजाब रोडवेज ने हरियाणा जाने वाली अपनी सभी बसों के रूट रद्द किए

Trending :   #Hot_Photoshot   #Sports   #Politics   #Hollywood   #Bollywood

मेधा के नाम पर फरेब का धंधा

     
  
  rising news official whatsapp number


  • विज्ञापन के नाम पर बच्चों से फरेब
  • सुनहरे भविष्य के स्वप्न दिखा रहे कोचिंग सेंटर

case of fake advertisement by coaching institute

दि राइजिंग न्यूज़

संजय शुक्ल

लखनऊ।


शिक्षा के कारोबारियों ने मेधावी छात्रों को भी कमाई का जरिया बना लिया है। या यूं कहा जा सकता है कि मेधावी बच्चे ही कोचिंग सेंटरों के लिए कमाई का धंधा बन गए हैं।  दरअसल इंजीनियरिंग परीक्षा के नतीजे के बाद आल इंडिया रैंकिंग पाने वाले बच्चों को ही कमाई के लिए साधन बना लिया गया। इसका प्रमाण कोचिंग सेंटरों द्वारा जारी विज्ञापन ही हैं। सवाल यह है कि खुलेआम बड़े-बड़े इश्तिहार के जरिए हो रही इस धोखाधड़ी पर कार्रवाई कौन करेगा। प्रशासन इसके लिए शिकायत का इंतजार करेगी या इन दोषी कोचिंग संचालकों पर कार्रवाई भी होगी।



(Allen Career institute) 

अब जरा मंगलवार को छपे विज्ञापन पर गौर करें। विज्ञापन एलन करियर इंस्टीट्यूट के विज्ञापन पर नजर डालें। इसमें दो बच्चों अमन कंसल और को अपना छात्र बताया है। उनकी फोटो तक छाप दी। खास बात यह है कि एक प्रतिष्ठित अखबार के प्रथम पृष्ठ पर छपे इस विज्ञापन के बाद अंदर के पृष्ठ पर छपे दूसरे कोचिंग के विज्ञापन में भी इन्हीं बच्चों की तस्वीरें हैं।



(Rao IIT Academy)

कोचिंग ने उन्हें अपना छात्र बताया है। सवाल यह है कि आखिर बच्चे वास्तव में किस कोचिंग में छात्र थे। या फिर कोचिंग के प्रमोशन के लिए प्रचार कर रहे हैं। शिक्षा विभाग के पास इसे देखने की फुर्सत ही नहीं है जबकि जो बच्चे इंजीनियर बनने की चाहत रखते हैं, उनके लिए ये आदर्श हैं। मगर वास्तव में कोचिंग वाले इन बच्चों के नाम पर धंधा कर रहे हैं।


विशुद्ध धोखाधड़ी


अपर जिलाधिकारी प्रशासन पवन गंगवार के मुताबिक ये विज्ञापन पूरी तरह से धोखाधड़ी के हैं। दरअसल जिन बच्चों में जिन बच्चों की तस्वीरें छापी जाती हैं, वे बाहर के होते हैं। अब एक ही बच्चा दो कोचिंग के छात्र के रूप में दिख रहा है तो संदेह की बात है लेकिन इसमें जांच की बात यह है कि बच्चा स्वेच्छा से ब्रांडिंग कर रहा है या फिर कोचिंग उसे भरोसे में लेकर ऐसा कर रहे हैं।


अब होगी कार्रवाई


अपर जिलाधिकारी ने बताया कि यह बात जानकारी में आयी है और इसकी जांच भी कराई जा सकती है। मगर इसमें कोई बच्चा या उसके अभिभावक शिकायत करेंगे तो जांच ज्यादा बेहतर तरीके से होगी। इसमें   


यह भी पढ़ें

अब बिना इंटरनेट होगी ब्राउंजिंग, पढ़िए पूरी खबर

अब ऐसी दिखती हैं अपने ज़माने की मशहूर अभिनेत्रियां

दिल चुरा लेगा तिनका तिनका दिल मेरा

सामने आया बाहुबलीप्रभास का नया लुक

एक तरफ मौसम खुशनुमा, दूसरी तरफ मौत का ज़लज़ला 

सुरक्षित नहीं हैं कतर में रह रहे इंडियंस



जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

संबंधित खबरें

HTML Comment Box is loading comments...

 


Content is loading...



What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll



Photo Gallery
धार्मिक आस्था- सर्प का दुग्धाभिषेक | फोटो- कुलदीप सिंह

Flicker News


Most read news

 



Most read news


Most read news


खबर आपके शहर की