Priya Prakash Varier New Video Goes Viral on Internet

दि राइजिंग न्‍यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ।

विधायकों की निधि से बोरिंग कर लगी पानी की टंकियां चोरी की बिजली से पानी दे रही हैं। राजधानी में ऐसी सैकड़ों पानी की टकियां लगी हुई है। विधायकों ने भी अपने पंसद के क्षेत्रों में जमकर पानी की टंकियां लगवाई और बोरिंग करा दी। मगर सारी बोरिंग सड़क या फुटपाथ की जमीन पर करा दी गई। बोरिंग के बाद मोटर को चलाने के लिए कनेक्शन कटिया से करा दिया गया। उसके बाद लेसा ने उसे देखा न नगर निगम ने।

धर्मस्थलों तक में बिजली चोरी की बात करने वाले लेसा के मुस्तैद अभियंताओं को कभी यह पानी की टंकियां नहीं दिखाई देती है। हर कालोनी –मुहल्लों में इस तरह की पानी की टंकियां लगी हुई है। इनके जरिए पानी की आपूर्ति हो रही है लेकिन कनेक्शन अधिसंख्य जगह है ही नहीं। केवल ये पानी की टंकियां ही नहीं, कई जगह पर पाइप लाइन में प्रेशर बढ़ाने के लिए लगाए गए सबमर्सबिल भी इसी तरह से कटिया के जरिए ही चल रहे हैं। मगर लेसा को कभी यह दिखाई नहीं देते हैं।

कार्यदायी एजेंसियां ही लापरवाह

दरअसल बोरिंग का काम व टंकी लगाने का काम जलसंस्थान और जल निगम द्वारा ही कराया जाता है। विधायक निधि से पानी की समस्या को दूर कराने के लिए बोरिंग कराने का प्रावधान होने के कारण विधायकों ने भी जमकर इसका इस्तेमाल किया। लाखों रुपये फूंक कर माननीयों ने जल समस्या के निदान के लिए बोरिंग करा कर टंकियां तो रखवा दीं लेकिन बिजली का कनेक्शन नहीं लगवाया। उससे एक कदम आगे लेसा है। हर पानी की टंकी पर विधायक का नाम लिखा है। सारा क्रेडिट उन्हें मिल रहा है लेकिन बिजली चोरी में कभी किसी विधायक को नोटिस नहीं दिया गया। सवाल यह है कि माननीय बिजली का बिल अदा करने के दायरे में नहीं आते। हालांकि नगर निगम से लेसा पूरा राजस्व वसूलता है। इस क्रम में गोमतीनगर में मार्ग प्रकाश व्यवस्था पर बकाया बिजली बिल अदा करने का नोटिस पिछले दिनों दिया गया है। बिल का भुगतान न होने पर बिजली संयोजन काट देने की चेतावनी भी दी गई है मगर किसी भी बोरिंग कर लगाई गई पानी की टंकी की कटिय़ा लेसा नहीं हटा पाया।

संयोजन न होने पर कटेगी बिजली

लेसा अभियंताओं के मुताबिक बिजली की चोरी रोकने के लिए चल रहे अभियान के तहत यह बात भी सामने आई है कि विभिन्न इलाकों में बोरिंग कर लगाई पानी की टंकियों को भरने के लिए कटिया से बिजली ली जा रही है। इस संबंध में नगर निगम को पत्र भेज कर उनसे इन पानी की टंकियों का संयोजन कराने को कहा गया है। बिजली संयोजन न लेने पर इन टंकियों की बिजली काट दी जाएगी।

 

 

 

https://www.therisingnews.com/?utm_medium=thepizzaking_notification&utm_source=web&utm_campaign=web_thepizzaking&notification_source=thepizzaking

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement