Happy And Not Happy Bollywood Actors For Ranveer Deepika Marriage

दि राइजिंग न्यूज़

अभिषेक पाण्डेय

लखनऊ

 

आम आदमी के गुस्से और विपक्ष का निशाना बन चुकी केंद्र सरकार अब जनता को लुभाने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती। शायद यही वजह है कि सरकार पिछले चार दिनों में पेट्रोल-डीजल के दामों में कटौती की गई। ये बात तो तय हैं की केंद्र इन दिनों 2019 की तैयारियों के मद्देनज़र अब आम आदमी को राहत देने के मूड में है। इसी वजह से आज लगातार चौथे दिन पेट्रोल के दामों में कटौती हुई। हालांकि डीजल के दाम में कोई बदलाव नहीं किया गया। रविवार को पेट्रोल नौ पैसे प्रति लीटर सस्ता हुआ वहीं शनिवार को पेट्रोल और डीजल दोनों नौ पैसे प्रति लीटर सस्ते हुए थे।

अब सवाल ये उठता है कि पिछले तीन महीनों में जिस महंगाई ने आम आदमी की कमर तोड़ दी, क्या उन्हें इससे राहत मिल पायेगी? ये सवाल इसलिए जायज़ है क्योंकि पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार तीन महीने का भारी वृद्धि हुई। अब तीन महीने बाद इनके दामों में कटौती तो जरूर की जा रही लेकिन जो महंगाई बढ़ी, उससे ठीक होने में इस हिसाब से और चार महीने लग जायेंगे। ऐसा इसलिए क्योंकि पेट्रोल-डीजल महंगा होने से ट्रांसपोर्ट-ढुलाई के दम भी बढ़ गए, अब इनमें कटौती भी ऐसे ढंग से की जा रही जिससे महंगी हुई चीज़ों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ रहा।    

 

13 शहरों में पेट्रोल 80 के पार

कटौती के बाद भी पेट्रोल की ऊंची कीमतों से राहत नहीं मिल पा रही। शनिवार को मुंबई, कोलकाता, चेन्नई समेत 13 शहरों में कीमतें 80 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा रहीं। भोपाल में शनिवार को पेट्रोल की कीमत 83.82 रुपये, गंगटोक में 81.20, गुवाहाटी में 80.4, हैदराबाद में 82.84, जयपुर में 80।98, जालंधर में 83.46, पटना में 83.67, श्रीनगर में 82.57, त्रिवेंद्रम में 81.35 रुपये प्रति लीटर रही। वहीं लखनऊ में पेट्रोल 78.64 रुपए प्रति लीटर रहा।

गृहस्थी पर अभी भी बोझ

पहली जून से ट्रांसपोर्टरों द्वारा बीस फीसद तक किराया बढ़ाने के ऐलान के बाद महंगाई से जूझ रहे आम आदमी की दिक्कतें और ज्यादा बढ़ती दिख रही हैं। महंगाई से जूझ रहे आम आदमी को लेकर सरकार बेफिक्र दिखाई दे रही है।

 

आम आदमी अभी भी परेशान

आम आदमी की दिक्कतें अभी भी कम नहीं हो रही हैं। कारण है, ट्रांसपोर्टेशन में वृद्धि। दरअसल, पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि होने के साथ ही समान की ढुलाई भी बढ़ रही है। डीजल के दामों में आग लगने से ट्रक वालों ने भी अपना किराया बढ़ा दिया है। 

इस विकल्प पर काम कर रही सरकार

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर आलोचना झेल रही केंद्र सरकार लोगों को राहत देने के लिए ओएनजीसी जैसी तेल उत्पादक कंपनियों पर टैक्स लगाने की तैयारी कर रही है। इससे पेट्रोल-डीजल के दाम दो रुपये तक कम हो सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में दो दिन पहले हुई मंत्रिमंडल की बैठक के बाद कहा गया कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर लंबी अवधि के समाधान तलाशे जा रहे हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement