Home Rising At 8am Action Over Vehicles Having Double Cylinder

27-28 अप्रैल को वुहान में चीनी राष्ट्रपति से मिलेंगे पीएम मोदी

भगवान के घर देर है अंधेर नहीं: माया कोडनानी

हैदराबाद: सीएम ऑफिस के पास एक बिल्डिंग में लगी आग

पंजाब: कर्ज से परेशान एक किसान ने ट्रेन के आगे कूदकर दी जान

देश में कानून को लेकर दिक्कत नहीं बल्कि उसे लागू करने को लेकर है: आशुतोष

आटो –टेंपो में डबल सिलेंडर खेल

Rising At 8am | 24-Feb-2018 | Posted by - Admin

 

  • ग्रीन गैस ने पकड़े दो सिलेंडर लगे वाहन
  • गैर जिलों के वाहनों में भी सीएनजी किट
   
Action Over Vehicles Having Double Cylinder

 

दि राइजिंग न्यूज

संजय शुक्ल

लखनऊ।

राजधानी में अवैध रूप से संचालित हो रही बाराबंकी, उन्नाव, रायबरेली आदि के आटो–टेंपो में एक के बजाए दो गैस सिलेंडर लग रहे हैं। खास बात यह है कि राजधानी छोड़ आस पास के जिलों उन्नाव, हरदोई, बाराबंकी, गोंडा, रायबरेली में सीएनजी उपलब्ध ही नहीं है लेकिन परिवहन विभाग की नाक के नीचे धड़ल्ले से अवैध किट लगवा कर चलाए जा रहे हैं। खास बात यह है कि इसमें सीएनजी पंप पर भी खेल चल रहा है। जहां से इन दो सिलेंडर लगे वाहनों को गैस भी मिल रही हैं। हालांकि करीब दर्जन भर वाहनों की सूची ग्रीन गैस लिमिटेड के अधिकारी ने जारी की है।

ग्रीन गैस लिमिटेड के अधिकारी एसपी गुप्ता ने बताया कि पिछले दिनों में सीएनजी लेने पहुंचे तमाम वाहनों की जांच में  उनमें दो सिलेंडर लगे मिलें। इन वाहनों को गैस देने से रोक दिया गया। खास बात यह थी इनमें आधा दर्जन से ज्यादा वाहन तो दूसरे जिलों में पंजीकृत हैं लेकिन उनमें गैस किट कैसे लग गई, यह गंभीर विषय है। इस संबंध परिवहन विभाग को पहले अवगत कराया गया था और दोबारा लिखित में यह जानकारी दी जा रही है। 

हर क्षेत्र में किट लगाने का खेल

दरअसल परिवहन विभाग की नाक के नीचे हर इलाके में वाहनों में लोकल सीएनजी किट लगाने का खेल चल रहा है। इन वाहनों में जो किट लग भी रही है, वह मानकों के अनुरूप नहीं है। यही नहीं, गैर जिले में पंजीकृत होने के कारण राजधानी में उनकी फिटनेस भी नहीं होती। एजेंट के जरिए दूसरे जिलों से फिटनेस प्रमाणपत्र भी मिल जाते हैं। इनमें सबसे ज्यादा खेल बाराबंकी और उन्नाव में हो रहा है।

पांच हजार से अधिक गैर जिलों के वाहन

राजधानी में परिवहन विभाग की प्रवर्तन इकाई की शिथिलता के कारण पांच हजार से अधिक अवैध आटो – टेंपो संचालित हो रहे हैं। कैसरबाग. डालीगंज, निशातगंज, मड़ियांव,चौक दुबग्गा व राजाजीपुरम से इनका संचालन हो रहा है। खास बात यह है कि इन वाहनों के जरिए प्रतिदिन लाखों रुपये की वसूली हो रही है और उसमें क्षेत्रीय पुलिस से लेकर परिवहन विभाग के एजेंट तक कमाई कर रहे हैं। इस कारण से अवैध वाहनों में सीएनजी किट लगाने का खेल तेजी से फलफूल रहा है।

रद किए जाएंगे परमिट

संभागीय परिवहन अधिकारी (प्रशासन) एवं संभागीय परिवहन प्राधिकरण के सचिव अशोक कुमार ने कहा है कि अगर वाहनों में गलत तरीके से सिलेंडर लगाए गए तो वाहनों के परमिट रद कर वाहन स्वामी –चालक के खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि ग्रीन गैस लिमिटेड का पत्र मिलने के बाद इन सारे वाहनों पर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही प्रवर्तन इकाई से व्यापक स्तर पर जांच कराई जाएगी।

ग्रीन गैस लिमिटेड द्वारा पकड़े गये डबल गैस वाले सिलिंडर

  • Up 41 AT 3354  Auto
  • Up 32 BN 9728 Auto
  • Up 32 BN 8215 Auto
  • Up 32 DN 3977 Auto
  • Up 32 BN 9815 Vikram
  • Up 32 BN 9884 Vikram
  • Up 81 T 9001 Auto
  • Up 32 Q 5747 Auto
  • Up 32 BN 9955 Auto
  • Up 32 FN 8879 Vikram
  • UP 36 T 1478 Auto
  • Up 27 T 5740 Auto

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555







TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll

Merchants-Views-on-Yogi-Government-One-Year-Completion

Loading...




Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news