Hrithik Roshan Career Updates

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

 

जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद विरोधी अभियान में एके-203 असॉल्ट राइफल का इस्तेमाल होगा। एके-203 राइफल का निर्माण उत्तर प्रदेश के अमेठी की फैक्टरी में किया जाएगा। यह ऑर्डिनेंस फैक्टरी बोर्ड और रूस का संयुक्त उपक्रम है। ये राइफलें आतंकियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में लगे जवानों को मुहैया कराई जाएंगी। फास्ट ट्रैक प्रक्रिया के तहत 93000 करबाइन की खरीद के लिए अलग से एक टेंडर जारी किया जा रहा है। 

शीर्ष सैन्य सूत्रों ने बताया कि हम करबाइन रोल में एके-203 का इस्तेमाल करना चाह रहे हैं। हम राइफल को हटा सकते हैं लेकिन इसका साइज पूरी तरह से कम करना होगा। तभी यह आसानी से कपड़ों में छिपाई जा सकेगी। करबाइन रोल की जरूरत के अनुसार एके-203 में और बदलाव किए जा सकते हैं। करीबी लड़ाई में करबाइन काफी मददगार होती है और कमरे में घुसने जैसे अभियानों के दौरान काफी प्रभावशाली हो सकती है।

 

93000 करबाइन की खरीद प्रक्रिया के प्रयास चल रहे हैं और रक्षा मंत्रालय ने इसके लिए एक ओवरसाइट कमेटी का गठन किया है। एक वरिष्ठ लेफ्टिनेंट जनरल रैंक के अधिकारी को कमेटी का सदस्य बनाया गया है। इसके अलावा अन्य सदस्य डीआरडीओ और रक्षा मंत्रालय से हैं। कमेटी के रिपोर्ट देने के बाद रक्षा मंत्रालय इस पर फैसला लेगा। केंद्र सरकार पहले ही दो तरह की आधुनिक असॉल्ट राइफल की खरीद को अंतिम रूप दे चुकी है। 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement