Neha Kakkar Crying gets Emotional in Memories of Ex Boyfriend Himansh Kohli

 

दि राइजिंग न्यूज़

लखनऊ।

 

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) का गठन करके शिवपाल यादव लोकसभा चुनाव में विपक्ष के सामने बड़ी चुनौती बनकर उभरे हैं। हालांकि अब उनकी जिम्मेदारियां काफी बढ़ गई हैं। फ़िलहाल उन्हें ऐसे लोगों को अपने साथ जोड़ना है जो पार्टी की नीतियों को जनता तक पहुंचाएं और पार्टी को मजबूती दें। ऐसे में शिवपाल यादव के द्वारा ओम प्रकाश यादव उर्फ पप्पू यादव को पार्टी के प्रदेश महासचिव के पद पर नियुक्त करना, पार्टी के लिए ओम प्रकाश यादव की कार्यशैली और कर्मठता की महत्ता दर्शाता है। इस पद पर रहकर ओम प्रकाश यादव प्रसपा को कितनी मजबूती प्रदान करते हैं और शिवपाल यादव के विश्वास पर कितना खरा उतरते हैं ये उनके लिए भी बड़ी चुनौती रहेगी।   

 

दि राइजिंग न्‍यूज ने ओम प्रकाश यादव से कुछ बातें कीं और जानी उनके पूरे जीवन व अग्रिम लक्ष्‍य की बातें। पेश है उनसे बातचीत के कुछ अंश...    

                            

 

आपका राजनीति में आना कैसे हुआ?

ओम प्रकाश यादव बताते हैं कि उनका बचपन काफी कठिन परिस्थितियों में बीता। पिताजी एक किसान थे और मां गृहणी। वह कहते हैं कि, “किसी-किसी दिन तो भूखे पेट ही सोना पड़ता था। उस वक्त पानी पीकर भूख मिटा लेते थे लेकिन मन में कसक उठती थी कि ऐसा हमारे साथ ही क्यों? जवान होते-होते ये समझ आया कि ऐसे लाखों लोग हैं, जिनके अंदर भी यही सवाल है। उस दिन से ठान लिया कि ऐसे ही लोगों के लिए कुछ करना है और इस सवाल को उनके जहन से भी मिटाना है। अपने अंदर एक लौ जलाई और धीरे-धीरे जरूरतमंदों की आवाज से आवाज मिलाकर चलने लगा। आस-पास के लोगों को मुझमें एक नेता नज़र आया और तभी से राजनीति में कदम रखा। मेरी सोच है कि गरीबों और जरूरतमंदों के लिए कुछ ऐसा करूं जिससे उन्हें सुकून पहुंचे और मुझे भी ख़ुशी मिले। लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरना ही जीवन का मकसद है।”        

 

संघर्षों से भरा रहा राजनीति का सफर

सन 1985 में पहली बार राजनीति में कदम रखने वाले ओम प्रकाश यादव उर्फ़ पप्पू यादव बताते हैं कि ये सफर आसान नहीं था। कई बार लाठियां भी खानी पड़ीं लेकिन इरादों पर अडिग रहा और जीत कर लौटा। बकौल ओम प्रकाश, “अपने राजनीतिक सफ़र में मैंने कई पार्टियों के साथ काम किया। इसमें समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी भी शामिल हैं। समाजवादी पार्टी में मुझे नेता जी (मुलायम सिंह) से बहुत सम्मान मिला। उन्होंने बड़े भाई की तरह मुझे सलाह दी और रास्ते भी दिखाए। मैं बसपा से भी जुड़ा और राज्यमंत्री का पद संभाला। इसके इतर मैंने अपने क्षेत्र (विक्रमादित्य वार्ड) में कई काम किए। किसानों की जमीनों से अवैध कब्ज़े हटाए। अवैध अतिक्रमण से मुक्त कर किसानों को उनकी जमीनें दिलाईं। गरीब बच्चों की शिक्षा का बंदोबस्त किया। मोहल्ले की सड़कें ठीक करवाईं और गलियों की नालियां सही करवाईं। इस दौरान मुझे धमकाया गया लेकिन मैं अडिग रहा और अपना कर्म करता रहा।

 

“मंत्री जी (शिवपाल यादव) का शुक्रगुजार हूं”

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव के बारे में बोलते हुए प्रदेश महासचिव ओम प्रकाश यादव कहते हैं कि वे एक अच्छे इंसान हैं जो अपने कार्यकर्ताओं का आदर-सम्मान करते हैं। मेरी मेहनत और लगन को देखते हुए ही उन्होंने इतना बड़ा पद मुझे दिया है। इस नई जिंदगी के लिए मैं तहे दिल से उनका शुक्रगुजार हूं। मैं पूरी तरह से प्रगतिशील समाजवादी पार्टी
(लोहिया) के प्रति समर्पित हूं। पार्टी को आगे बढ़ाना ही मेरा मकसद है। पार्टी से जुड़े सभी लोगों की मदद के लिए मैं हमेशा तत्पर हूं। जनता मालिक है और पार्टी जनता के हित में ही काम कर रही है।

जनता की पार्टी है प्रसपा: ओम प्रकाश यादव 

पार्टी के प्रदेश महासचिव ओम प्रकाश यादव ने पार्टी का एजेंडा बताते हुए कहा कि, “जनता की खुशहाली और उनकी सेवा ही हमारा मकसद है। इसी काम में हम जुटे हुए हैं। नेताओं की नहीं, जनता की पार्टी है प्रसपा।” वहीं, विपक्ष को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि हमारे ऊपर लांछन लगाने से पहले वह खुद को देखें। आने वाले इलेक्शन में जनता उनको इसका जवाब देगी। और हमारे पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जी भी कहते हैं कि लोकसभा चुनाव में प्रसपा किंगमेकर पार्टी बनकर उभरेगी। इस बातचीत के दौरान राकेश यादव (प्रसपा, जिला सचिव) मौजूद रहे। 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement