Home Jara Hat Ke When Doctor Called Tantrik For Treatment Of Patient In Hospital

27-28 अप्रैल को वुहान में चीनी राष्ट्रपति से मिलेंगे पीएम मोदी

भगवान के घर देर है अंधेर नहीं: माया कोडनानी

हैदराबाद: सीएम ऑफिस के पास एक बिल्डिंग में लगी आग

पंजाब: कर्ज से परेशान एक किसान ने ट्रेन के आगे कूदकर दी जान

देश में कानून को लेकर दिक्कत नहीं बल्कि उसे लागू करने को लेकर है: आशुतोष

जब एक डॉक्टर ने महिला के इलाज के लिए अस्पताल में बुलाया तांत्रिक

Jara Hat Ke | 16-Mar-2018 | Posted by - Admin
   
When Doctor Called Tantrik For Treatment of Patient in Hospital

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

 

अपने कभी ऐसे अस्पताल के बारे में सुना है जहां मरीजों का इलाज डॉक्टर नहीं बल्कि तांत्रिक करते हों। नहीं न, आपको बता दें कि  महाराष्ट्र के पुणें में एक ऐसा ही अस्पताल है। अब जरा सोचिए, ऐसे हॉस्पिटल का क्या होता होगा। कुछ ऐसा हैरान करने वाला मामला मीडिया के सामने आया।  

 

दरअसल, एक डॉक्टर ने आईसीयू में भर्ती एक महिला के ट्यूमर का इलाज करने के लिए तांत्रिक बुलवाया। सुनकर झटका लगा न... यह हकीकत है। महाराष्ट्र के पुणे में एक हैरान करने वाली यह घटना दीनानाथ मंगेशकर अस्पताल की है। एक रिपोर्ट के मुताबिक यहां ट्यूमर से पीड़ित एक महिला का इलाज डॉक्टर ने तांत्रिक से कराया है।

बड़े ताज्जुब की बात है कि एक पढ़ा-लिखा इंसान जो इस मुकाम पर पहुंचा और इतनी बढ़ी लापरवाही कर गया। सिर्फ इतना ही नहीं उसकी इस लापरवाही की चलते महिला की मौत हो गई। फिलहाल पुलिस ने आरोपी डॉक्टर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

 

इस मामले से जुड़ा विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में आईसीयू में तांत्रिक महिला का इलाज करते साफ नजर आ रहा है। 25 साल की संध्या सोनवणे के परिवार वालों ने आरोप लगाया कि डॉक्टर ने मरीज का इलाज न करके तांत्रिक को बुलाया और मरीज के शरीर से बुरी आत्मा को भगाने को कहा।

संध्या सोनवणे को सीने में ट्यूमर था। इसके इलाज के लिए उन्होंने पुणे के ले स्वारगेट इलाके में स्थित डॉ. सतीश चव्हाण के प्राइवेट अस्पताल गई थी। संध्या के रिश्तेदारों ने दावा किया कि वह 11 मार्च को आईसीयू में थी। जहां इलाज के लिए डॉ. चव्हाण ने एक तांत्रिक को बुलाया।

 

तांत्रिक ने कुछ तंत्र साधना की। परिवार का आरोप है कि सतीश ने एक तांत्रिक को हॉस्पिटल में बुलाया। वह पूजा-सामग्री निकालकर आईसीयू में मंत्र पढ़ने लगा। डॉक्टर दूर खड़े रहे। परिवार के सदस्य ने कहा, हमें इसकी पहले से जानकारी नहीं थी, इसलिए हमने पूरी घटना का विडियो बना लिया। सोमवार शाम को संध्या की मौत हो गई।

अब इस मामले में अस्पताल मैनेजमेंट ने अपना पल्ला झाड़ते हुए कहा है कि इस पूरी घटना में उनके स्टाफ का कोई रोल नहीं है। ताज्जुब की बात है कि दीनानाथ मंगेशकर अस्पताल के एक अधिकारी ने कहा है कि, न तो संबंधित डॉक्टर अस्पताल से जुड़ा है, न ही हमारे स्टाफ में से कोई भी पूरी घटना में शामिल था।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555







TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll

Merchants-Views-on-Yogi-Government-One-Year-Completion

Loading...




Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news