Crowd Rucuks At Sapna Chaudhary Program in Begusaray of Bihar

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

 

कब्रिस्तान और श्मशान, किसी भी आम इंसान के लिए भयावह होती हैं। वहां से गुजरने से भी लोग कतराते हैं, लेकिन कोई ऐसा भी है जिसने कब्रिस्तान को ही अपना घर बना लिया है। जी हां, जिस जगह पर लोग जाने से डरते हैं वहां एक अकेली लड़की घर बनाकर रहती है।

 

घर से भाग गई थी ये लड़की

1980 में घर से भागी हुई एक लड़की मोना ने कब्रिस्तान में घर बना लिया। सिर्फ ये कह कर कि यहां मौजूद कुछ कब्रें उसके परिजनों की हैं, लेकिन कई बार ऐसा भी हुआ कि दरवाजे खुले रखने के कारण मोना के घर चोरियां हुईं।

कब्रिस्तान में हैं पड़ोसी

कब्रिस्तान में मोना के कुछ पड़ोसी भी हैं, जिनमें कुछ सेक्स वर्कर, कब्र खोदने वाले और भिखारी शामिल हैं। इन लोगों को यहां गड़े मुर्दे डराते नहीं हैं। उनकी कब्रों पर धुले कपड़े सुखाना इनके लिए एक आम बात है। ये कब्रिस्तान पिछले तीन दशकों से मोना का घर है।

 

किन्नरों के साथ बिताई जिंदगी

दरअसल, मोना किसी वजह से जब घर से भागी थी तो कब्रिस्तान में आकर उसने अपनी जिंदगी किन्नरों के साथ पब्लिक के बीचों-बीच जी। अब उसे बक्से जैसे कमरों वाले घर किसी जेल जैसे लगते हैं। कब्रिस्तान में बसे इस घर के दरवाजे हमेशा खुले रहते हैं। वो अपने जैसे और युवाओं की मदद को हमेशा तत्पर रहती है।

फेमिनिस्ट लेखक उर्वशी बुटालिया, मोना की दोस्त हैं। उन्होंने बताया कि एक समय पर आम लोगों की दुनिया मोना को भी बड़ी लुभावनी लगती थी, लेकिन अब उन्हें ये नीरस लगने लगी है इसलिए वो कब्रिस्तान में रहती है। अब मोना 80 साल की हो चुकी है, लेकिन उसने कब्रिस्तान में बने घर को नहीं छोड़ा।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement