Home Jara Hat Ke These Plastic Facts Definitely Shocked You

दिल्लीः स्कूल वैन-दूध टैंकर की टक्कर, दर्जन से ज्यादा बच्चे घायल, 4 गंभीर

पंजाबः गियासपुर में गैस सिलेंडर फटा, 24 घायल

कुशीनगर हादसाः पीएम मोदी ने घटना पर दुख जताया

बंगाल पंचायत चुनाव में हिंसाः बीजेपी करेगी 12.30 बजे प्रेस कांफ्रेंस

कुशीनगर हादसे में जांच के आदेश दिए हैं- पीयूष गोयल, रेल मंत्री

भयानक सच: हमारा शरीर भी चूसता है प्लास्टिक

| Last Updated : 2018-02-08 11:48:21

These Plastic Facts Definitely Shocked You


दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

 

यह बात कम ही लोग जानते होंगे कि हमारा शरीर भी प्लास्टिक पीता है लेकिन ये सच है। आज हम आपको प्लास्टिक से जुड़े कुछ ऐसे ही भयानक सच बताने जा रहे हैं।

 

हमारी दुनिया के चारों ओर एक प्लास्टिक की दुनिया बन गई है और हम उसी में सांस ले रहे हैं। आज प्लास्टिक का उपयोग हर जगह हो रहा हैं। प्लास्टिक पर्यावरण के लिए बड़ा खतरा बन गई हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें प्लास्टिक का आविष्कार सन 1862 में इंग्लैंड के एलेक्जेन्डर (Alexander Parkes) ने किया था। इसके बाद प्लास्टिक का चलन धीरे-धीरे शुरू हुआ और आज के समय में इतना बढ़ चुका है कि अगर जान लें तो आपकी आंखे चुंधिया जाएंगी।

 

एक प्लास्टिक की बोतल रिसाइकल करने से इतनी ऊर्जा बचाई जा सकती हैं कि एक 60W का बल्ब 6 घंटे तक जलाया जा सकता है। प्लास्टिक की आधी वस्तुएं (50 प्रतिशत) हम सिर्फ एक बार काम में लेकर फेंक देते हैं। सिर्फ इतना ही नहीं, पूरी दुनिया के कुल तेल का 8 प्रतिशत भाग केवल प्लास्टिक के उत्पादन में लग जाता हैं।

आप शायद यह बात भी नहीं जानते होंगे कि हर साल पूरे विश्व में इतना प्लास्टिक फेंका जाता है कि इससे पूरी पृथ्वी के चार घेरे बन सकते हैं। प्लास्टिक को सिर्फ नुकसान के लिए नहीं जाना जाता बल्कि यह मजबूती के लिए भी जानी जाती है। जी हां, एक प्लास्टिक बैग अपने वजन से 2000 गुना ज्यादा बोझ उठा सकता हैं।

 

एक बुरी बात यह है कि हर साल लगभग 1 लाख पशु प्लास्टिक बैग खाने के कारण मर जाते हैं। प्लास्टिक बैग यूज तो की जा सकती है लेकिन इसे कैसे खत्म किया जाए ये समाधान नहीं। कहते हैं कि प्लास्टिक बैग को खत्म होने में लगभग 1,000 साल लगते हैं।

हैरान कर देने वाली बात तो यह है कि भारत में हर साल प्रत्येक व्यक्ति द्वारा लगभग 9.7 किलो प्लास्टिक उपयोग में लाया जाता हैं, जबकि अमेरिका में प्रति व्यक्ति 109 किलो।

 

जब भी हम नई कार लेते हैं तो उसमें से एक अजीब प्रकार की गंध आती है यह गंध असल में प्लास्टिक का प्लास्टिकिजेर्स है जो अधिक मात्रा में इस्तेमाल करने से गंध छोड़ता हैं।



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...







खबरें आपके काम की