Home Jara Hat Ke Most Luxurious Jail In The World

कांग्रेस प्रधानमंत्री को बर्दाश्त नहीं कर पा रही: स्मृति ईरानी

ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सुखोई-30 फाइटर जेट से सफल परीक्षण

प्रद्युम्न मर्डर केस: जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने आरोपी को 14 दिन के लिए सुधार गृह भेजा

हम कुछ भी असंवैधानिक नहीं करते, हार्दिक पटेल ने फॉर्मूला मंजूर किया: सिब्बल

आरक्षण का फॉर्मूला मोदी जी के पास है: अशोक गहलोत

इस आलीशान जगह की असलियत जानकर हैरान रह जाएंगे आप

Jara Hat Ke | 28-Aug-2017 | Posted by - Admin

   
Most Luxurious jail in the World

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

 

आप सभी ने जेल और वहां के इंतजाम के बारे में तो जरूर सुना होगा। सभी ने फिल्मों के माध्यम से जेल की एक तस्वीर अपने दिमाग में बैठा ली होगी लेकिन इस खबर को पढ़ने के बाद आपके जेल को लेकर फैक्ट्स और क्लियर हो जाएंगे। आज हम आपको बताने जा रहे हैं एक “फाइव स्टार जेल” के बारे में। फाइव स्टार होटल होना बेहद ही सामान्य बात लगती है लेकिन क्या फाइव स्टार जेल होना उतना ही सामान्य है। नहीं न, लेकिन यह सच है।

 

दरअसल, ऑस्ट्रिया में “जस्टिस सेंटर लियोबेन” एक ऐसी ही जेल है, जो अपनी भव्यता और आलीशान सुविधाओं के लिए जानी जाती है। इस जेल के चित्र देखकर और यहां की सुविधाओं के बारे में जानकर शायद बहुतों के दिल में यहां रहने की इच्छा भी पैदा हो जाए।

 

जेल में 205 कैदी बिताते हैं लग्जरियस लाइफ...

 

मशहूर आर्किटेक्ट जोसेफ होहेंसिन्न द्वारा तैयार की गई यह जेल ऑस्ट्रिया के पहाड़ी इलाके लियोबेन में स्थित है। इसके आधे हिस्से में कोर्ट भी है। इस फाइव स्टार जेल में 205 कैदियों के रहने की व्यवस्था है। इसमें कैदियों को तमाम अत्याधुनिक सुविधाएं दी जाती हैं, जिसमें स्पा, जिम, कई तरह के इंडोर गेम और पर्सनल हॉबी की सुविधाएं उपलब्ध हैं।

इसकी सेल भी लग्जरियस हैं। यहां की हर एक सेल में अलग बाथरूम, एक किचन और एक लिविंग रूम बना हुआ है। इसमें टीवी की सुविधा भी उपलब्ध है। इसके अलावा रूम में एक फुल साइज विंडो भी है, जिससे की कैदी बाहर का नजारा देख सकें।

 

बहरहाल, यह जेल खूंखार कैदियों के लिए नहीं है। इस जेल में ऐसे कैदियों को रखा जाता है, जो मामूली घटनाओं की सजा काट रहे होते हैं।

क्यों बनाया गया लग्जरियस?

 

इस जेल को लग्जरियस बनाने के पीछे का मकसद छोटे-मोटे अपराध की सजा काट रहे कैदियों को बेहतर सुविधा मुहैया कराना था, ताकि वे अपने अपराध के बारे में सोच सकें और जेल से बाहर निकलने के बाद क्राइम से दूर होकर एक सामान्य जीवन जी सकें।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555


संबंधित खबरें



HTML Comment Box is loading comments...

Content is loading...




TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll


What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Photo Gallery
गोमती तट पर दीप आरती करती महिलाएं। फोटो- अभय वर्मा



Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news


sex education news