Mahaakshay Chakraborty and Madalsa Sharma jet off to US for Honeymoon

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क। 

 

वैसे तो स्पेस पर ग्रेविटी की कमी के कारण चीजों का उड़ना तो आपने भी सुना ही होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं कि पृथ्वी पर भी ऐसी एक जगह है, जहां ग्रेविटी यानी गुरुत्वाकर्षण काम नहीं करता। जी हां... यहां चीजें नीचे गिरने की जगह हवा में तैरने लगती हैं। इंजीनियर्स के बेजोड़ दिमाग का नतीजा है अमेरिका का हूवर डैम। इस डैम से चीजें नीचे फेंकने पर वो ऊपर की तरफ तैरने लगती हैं। 

साल 1936 में बने इस बांध के बारे में कहा जाता था कि यहां से कोई भी चीज नीचे फेंकने पर ऊपर आती है, हालांकि इस बात को हमेशा से अफवाह माना जाता रहा है। लेकिन वैज्ञानिकों ने हालिया किए शोध में पाया कि यह वाकई सच है। हूवर डैम के ऊपर से जाकर अगर एक बोतल से पानी नीचे उड़ेला जाए तो पानी नीचे गिरने की बजाए आकाश की तरफ उड़ने लगता है। साइंटिस्ट इसके पीछे की वजह यहां चलने वाली तेज हवा को मानते हैं। शोधकर्ता लेसली कहती हैं कि बांध के चलते हवा ऊपर की तरफ बहती है, इसकी मदद से पानी गुरूत्व बल के सिद्धांत के पार आ जाता है। यही वजह है कि नीचे की ओर बहने के बजाए पानी हवा के साथ ऊपर की तरफ बहने लगता है। कोलोराडो नदी पर बना हूवर बांध धनुष के आकार का है। यही वजह है कि नेवाडा स्टेट में बने इस डैम को आर्क डैम भी कहा जाता है।

ऐसा है ये डैम
यह डैम 221.4 मीटर ऊंचा और 379 मीटर लंबा है। बांध की दीवार से टकराने वाली हवा रास्ता खोजने के लिए ऊपर की तरफ बहने लगती है। घाटी होने की वजह से हवा की रफ्तार बहुत तेज होती है। तेज रफ्तार से ऊपर की ओर बहती हवा के संपर्क में जब बोतल से उड़ेला गया पानी आता है तो वह भी आकाश की तरफ उड़ने लगता है। यही हाल छोटी और हल्की चीजों को नीचे गिराने पर भी होता है।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll