Crowd Rucuks At Sapna Chaudhary Program in Begusaray of Bihar

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

 

देश में एक गांव ऐसा है जहां लोग मौत को लेकर एक शौक रखते हैं और इसे पूरा करने के लिए जीते जी लाखों रुपये खर्च कर देते हैं। यहां हिन्दू परिवार मौत का एक अनोखा रिवाज निभाते हैं। हैदराबाद के राय दुर्गम गांव में लोगों को मौत के बाद अपने वंश के साथ एक कतार में दफन होने का शौक है। इस शौक को पूरा करने के लिए लोग जीते जी लाखों रुपये खर्च करके जमीन खरीदकर छोड़ देते हैं, ताकि उनके बच्चे और आगे उनके वंशजों की मरणोपरांत कतारबद्ध सुंदर कब्र बनाई जाए।

शव जलते नहीं बल्कि...

इस काम का जिम्मा संबंधित परिजनों के साथ-साथ “महाप्रस्थानम”  मैनेजमेंट का रहता है। यहां हिन्दू परिवार अपने शवों को जलाते नहीं है। उनका मानना है कि इससे लकड़ी का दोहन होगा और पर्यावरण भी प्रदूषित होगा। इसलिए यादगार के तौर पर वे मरणोपरांत अपनी सुंदर कब्र तैयार करने की कामना रखते हैं।

 

यहां कई परिवारों ने एक ही कतार में परदादा, दादा, दादी, पिता, माता और आगे उनके वंशजों के शव दफनाए हुए हैं। चौरसनुमा समाधि की तरह तैयार इस कब्र को घौरी कहा जाता है, जिस पर मरने वाले की फोटो भी लगाई जाती है।

शमशानघाट नहीं बगीचा कहिए

यह शमशानघाट एक खूबसूरत बगीचे की तरह तैयार किया गया है, जहां हिन्दू शवों को मशीनों व लकड़ियों से भस्म किया जाता है। यहीं पर शवों को एक ही कतार में दफनाया भी जाता है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement