Crowd Rucuks At Sapna Chaudhary Program in Begusaray of Bihar

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

 

शादी को हुए चंद मिनट भी नहीं बीते थे कि 100 रुपए की लेनदेन को लेकर शादी टूट गई। जी हां, यह अजीबोगरीब मामला उत्तर प्रदेश के मेरठ इलाके में सामने आया है। विवाद शादी का बंधन बंधने के बाद शुरू हुआ। विवाद दक्षिणा के 100 रुपए को लेकर शुरू हुआ, जिसने ऐसा तूल पकड़ा कि दुल्हन ने साथ जाने से साफ इंकार कर दिया।

इसके बाद जो हुआ...

बहुत कहासुनी होने के बाद मामला थाने जा पहुंचा। इसके बाद दोनों ने एक-दूसरे से अलग होने का फैसला कर लिया। मामला मेरठ के टीपी नगर इलाके का है। जानकारी के मुताबिक सोमवार रात को यह शादी हुई थी। दिल्ली से बारात आई थी। सब कुछ ठीक-ठाक चल ही रहा था। देर रात दोनों पक्षों के परिजन और कुछ रिश्तेदार फेरों पर रुक गए थे। पुलिस के अनुसार दूल्हा पक्ष फेरों के लिए अपने पंडित को नहीं लाए थे। जिस पर तय हुआ था कि दुल्हन पक्ष के पंडित ही लड़के पक्ष की ओर से फेरों की रस्म करा देंगे। दूल्हा पक्ष बाद में उन्हें दक्षिणा दे देगा। फेरों की रस्म भी पूरी हो गई। बकौल पुलिस दूल्हे पक्ष से पंडित जी को दक्षिणा में केवल 100 रुपए ही दिए।

 

आरोप है कि कम दक्षिणा देने को लेकर दुल्हन के पिता ने खूब बेइज्जती की। इसके बाद दूल्हे के पिता ने पंडित को 2100 रुपये दे दिए लेकिन, दुल्हन के पिता पर अपमानित करने का आरोप लगाकर दूल्हे का पिता अपने परिवार के पास जाकर रोने लगा। पुलिस के अनुसार रिश्तेदारों ने बताया कि शादी की शॉपिंग के दौरान ही दोनों पक्षों में खटास शुरू हो गई थी। दोनों पक्षों ने दिल्ली में दुल्हन का लहंगा खरीदा था। लेकिन कहने के बावजूद भी दूल्हे को शेरवानी नहीं दिलायी थी। इस पर नाराज दूल्हा फोन पर बात करने पर दुल्हन को ताने मारता था।

दोनों पक्षों के कुछ लोगों ने मंगलवार सुबह 10 बजे तक मामला सुलझाने का प्रयास किया। लेकिन बात नहीं बनी। हंगामे की सूचना टीपी नगर पुलिस पहुंची तो दोनों पक्षों के उलझने पर पुलिस उन्हें थाने ले गई। जहां दुल्हन पक्ष ने दहेज में गाड़ी मांगने का आरोप लगाकर तहरीर दे दी। शाम तक पार्षद कुलदीप सैनी सहित कई गणमान्य लोगों ने मामला सुलझाने का प्रयास किया। लेकिन बात नहीं बनी। रिश्तेदारों ने ये बात दूल्हे को बताई तो वो आपा खो बैठा। उसने मंडप में पास बैठी दुल्हन को खरी खोटी सुना दी। आरोप है कि दूल्हे ने भरे मंडप में दुल्हन को रिश्तेदारों के सामने हाथापाई कर अपमानित किया।

 

इसके बाद ऐसा बखेड़ा हुआ कि बात पूरी तरह बिगड़ गई। दुल्हन ने दूल्हे के साथ जाने से साफ इंकार कर दिया। दुल्हन के पिता ने भी बेटी को विदा करने से इंकार कर दिया। इस पर मंडप में हंगामा खड़ा हो गया। आखिर में दोनों पक्षों ने समझौता कर संबंध खत्म करने का फैसला लिया। दुल्हन पक्ष ने दहेज की तहरीर वापस ले ली। दोनों पक्षों ने बताया कि उनमें समझौता हो गया है। दोनों पक्ष शादी में एक-दूसरे को दिया गया सामान लौटा देंगे। दूल्हा पक्ष दुल्हन पक्ष को खर्च हुए एक लाख भी देगा। इसके बाद उनके बीच कोई संबंध नहीं रहेगा।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement