Mahi Gill Regrets Working in Salman Khan Film

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क 

सपनों की दुनिया बेहद रहस्यमय होती है। हम सपने में कई प्रकार की चीजें और लोगों को देखते हैं। कुछ का तो हमारे वास्तविक जीवन से ताल्लुक होता है, किंतु कुछ ऐसे भी होते हैं जिन्हें असल जिंदगी में कभी देखा ही ना हो। सपने में इंसान, जानवर, बेजान वस्तुएं तो दिखती ही हैं, लेकिन देवी-देवताओं से जुड़े सपने का क्या अर्थ होता है?

स्वप्न शास्त्र के अनुसार हर सपने का एक खास मतलब होता है। भले ही विज्ञान इसे माने या ना माने, किंतु स्वप्न शास्त्र की राय में सपनों का हमारे वास्तविक जीवन पर प्रभाव पड़ता है। हर सपना उस व्यक्ति विशेष पर शुभ या अशुभ प्रभाव डालता है, लेकिन कौन सा सपना शुभ है और कौन सा नहीं इसी की जानकारी हमें स्वप्न शास्त्र के माध्यम से प्राप्त होती है।

आज हम आपको स्वप्न में देवों के देव महादेव और उनसे संबंधित वस्तुओं के सपने क्या कहते हैं, यह बताएंगे। सपने में शिवजी का दिखना और बार-बार आना एक खास संदेश लेकर आता है। अगर आपको भी बारम्बार शिवजी के सपने आते हैं, तो जरूर जानें इसका मतलब।

सपने में शिवलिंग दिखना

शिवजी का ही स्वरूप माना गया है शिवलिंग। वास्तव में शिवजी को प्रसन्न करने का एक बड़ा माध्यम है शिवलिंग पूजन, इसलिए जब शिवजी की बात हो तो उनके बाद सबसे पहले शिवलिंग को ही महत्वपूर्ण माना गया है। किंतु सपनों की बात करें तो स्वप्न शास्त्र के अनुसार सपने में शिवलिंग का दिखाई देना बेहद शुभ माना गया है। ऐसा सपना जीवन के सभी अशुभ तत्वों का नाश करने वाला होता है। अगर लंबें समय से परेशानियां चल रही हैं और आपको सपने में शिवलिंग दिखे तो समझ लें कि अच्छा समय शुरू होने वाला है। सपने में शिवलिंग का आना विशेषत: आर्थिक सुधार की ओर इशारा करता है। आपको अचानक कहीं से धन प्राप्त होगा या फिर जिस धन का लंबे समय से इंतजार था वो भी मिल सकता है। स्वप्न शास्त्र की राय में यदि सपने में शिवलिंग के दर्शन हो जाएं तो शिव मंदिर में जाकर वहां शिवलिंग पर दूध चढ़ाना ना भूलें, इससे भगवान शिव प्रसन्न होते हैं।

शिव जी की जटाओं में चांद देखना

शिव जी के यदि स्वरूप की बात करे तो उनकी जटाओं में चांद दिखाई देता है। शास्त्रों के अनुसार यह चांद ज्ञान का प्रतीक माना गया है। तो यदि सपने में आपको शिवजी का चांद दिखाई दे तो यह आपको ज्ञान संबंधी कार्यों से जोड़ता है।

शिवजी एवं पार्वती जी को एक साथ देखना

शिवजी एवं पार्वती जी को विवाह संबंधों में आदर्श माना गया है। हिन्दू शास्त्रों में विवाह संबंधों को खुशहाल बनाने के लिए शिव एवं पार्वती जी को ही प्रसन्न करने से संबंधित उपाय दर्ज हैं।

शिवजी का रौद्र रूप देखना

शिवजी का तांडव रूप यूं तो शुभ नहीं माना जाता है, क्योंकि यह उनका रौद्र रूप है। इस रूप में वे बेहद क्रोधित होते हैं। लेकिन अगर आप कोई ऐसा सपना देखें जिसमें शिव जी द्वारा तांडव किया जा रहा है या कोई भी तांडव नृत्य कर रहा हो तो यह बताता है कि जल्द ही आपकी समस्याएं हल हो जाएंगी।

सपने में शिव मंदिर देखना

अगर आप सपने में शिव मंदिर देखते हैं या स्वयं शिव मंदिर जाते हैं तो यह एक शुभ संकेत है। यदि आप लंबे समय से किसी बीमारी से जूझ रहे हैं या आप किसी दूसरी परेशानी से ग्रस्त हैं, तो ऐसा सपना सब कुछ ठीक हो जाने की ओर संकेत करता है।

शिव का त्रिशूल

भगवान शिव का विशेष अस्त्र माना जाता है त्रिशूल। त्रिशूल को शास्त्रों के अनुसार शक्ति का प्रतीक माना गया है। अगर किसी को सपने में शिव त्रिशूल के दर्शन हो जाएं तो यह एक शुभ संकेत है। यह त्रिशूल जीवन के हर संकट का नाश करता है और आपको समस्याओं से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है।

शिव जी का डमरू

त्रिशूल के अलावा यदि सपने में शिव जी का डमरू दिखाई दे या फिर केवल डमरू की आवाज भी आए तो यह एक शुभ संकेत है। यह बताता है कि जल्द ही आपको कोई अच्छी खबर मिल सकती है।

शिव जी की तीसरी आंख

शिव जी की तीसरी आंख सतर्कता और जागरूकता के विषय में बताती है। यह सपना आपको जीवन में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव का संकेत देता है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll