Home Secret Of Illusion Benefits Of Dreams In Actual Life

श्रीलंका के जाफना जेल में भेजे गए तमिलनाडु से गिरफ्तार 16 मछुआरे

व्यापम केस में CBI ने 95 लोगों के खिलाफ फाइल की चार्जशीट

त्रिपुरा: BJP कार्यकर्ता की हत्या, CPM पर लगाए आरोप

72,400 असॉल्ट राइफल्स और 93,895 कार्बाइन्स की खरीद को मंजूरी

अहमदाबाद: प्रवीण तोगड़िया से अस्पताल में मिले कांग्रेस नेता अर्जुन मोढवाडिया

तो ये है सपनों की गणित, आप भी जानिए

Secret Of Illusion | 05-Jun-2017 | Posted by - Admin

   
benefits of dreams in actual life

दि राइजिंग न्‍यूज

आउटपुट डेस्‍क।


हम सभी अच्छे सपने देखना चाहते हैं, पर सपनों पर किसका नियंत्रण हैं। कभी अच्‍छे ख्‍वाब आएंगे तो कभी बुरे से भी पाला पड़ेगा। हम चाह कर भी मनमुताबिक चीजें सोते हुए नहीं देख सकते।


यदि हम चाहें कि हमें हमारी गर्लफ्रैंड या फिर अच्छी नौकरी के सपने आते रहें तो ऐसा मुमकिन नहीं। स्‍वप्‍नों की भी अपनी गणित होती है। हम आपको बताते हैं कि क्‍या।


ख्‍वाब हर उम्र में उसी के अनुसार दिखाई देते हैं। कुछ प्रोफेसरों का कहना है कि स्वप्न विज्ञान मे कुछ दिलचस्प बाते हैं। जानकार बताते हैं कि 10 से18 वर्ष तक के बालक और किशोरों को ज्यादातर दिनभर जो घटनाओं घटीत होती है उनसे सम्बंधित सपनें आते हैं। ये बच्चे स्कूल, गली मोहल्ले में घटी घटनाओं के सपने देखते हैं।


वहीं18 से 25 साल के युवकों को अपनी दिनचर्या से जुडे सपने आते हैं। इन सपनों में प्रेम प्रसंग, झगडा और नौकरी से संबंधित प्रसंग दिखते हैं। 25 से 40 साल के लोगों को नई बातों और नई तरकीबों के सपने आते हैं। मसलन नया बिजनेस, डील, घर इत्यादि के ख्वाब उन्हें दिखते हैं।


वहीं40 से अधिक उम्र वालों को जीवन से जुडे वे सपने आते हैं जिन्हें उनका ब्रेन याद करता है। जो बच्चा बचपन में खुशनुमा सपने देखता है वहीं उसका आधार बनता है। सपनों से यह भी जानकारी मिलती है कि जीवन कैसा होगा।


अब हम आपको बताते हैं कि सपने आते कैसे हैं। दरअसल ब्रेन में कुछ सुस्त कोशिकाएं रहती हैं। जब व्यक्ति सोता है तो उसका ब्‍लड प्रेशर हाई हो जाता है। इससे नसों में खून का संचार तेज हो जाता है। इस समय ब्रेन की सफाई होती है जिसे आरईएम स्लीप कहते हैं। खून का लगातार संचार बढने से सुस्त कोशिकाएं जागृत हो जाती हैं और सपने आने लगते हैं।


यह भी पढ़ें

इतिहास रचेगा भारत, लॉन्‍च हुआ GSLV मार्क-3

आतंकवाद बढ़ा रहा कतर, सारे संबंध खत्‍म

बिहारी खुद ही अपनी नाक कटवा रहे हैं

कुछ इस तरह सोशल मीडिया पर उड़ी पाक की खिल्ली 

...तो इसलिए हार गया पाकिस्‍तान 

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555







Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news