Priyanka Chopra Shares Her Experience of Health Issues

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

लोग सोने जाते हैं या सोकर उठते हैं तो बहुत से लोगों को उबासी यानी जम्हाई आती है। आमतौर पर लोग उबासी को नींद से जोड़कर देखते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है। अगर आप जम्हाई लेते हैं तो इसका मतलब ये होता है कि आपकी नींद आ नहीं रही है, बल्कि जा रही है। वैज्ञानिकों की माने तो शरीर नींद को दूर कर दिमाग को सक्रिय करने के लिए जम्हाई लेता है।

साल 2013 में स्विट्ज़रलैंड के म्यूनिख में साइकियाट्रिक यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल ने इससे जुड़ा एक प्रयोग किया था। इस शोध में करीब 300 लोगों को ऐसे वीडियो दिखाए गए थे, जिनमें लोग सिर्फ उबासियां ले रहे थे। इन लोगों में से 200 से ज्यादा लोगों ने 1 से 15 बार तक जम्हाई ली।

दूसरों को देखकर क्यों आती है उबासी

इस प्रयोग में ये बात सामने आई कि किसी को जम्हाई लेता देखकर भी जम्हाई आती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ह्यूमन मिरर न्यूट्रॉन सिस्टम एक्टिवेट हो जाते हैं। मिरर न्यूरॉन सिस्टम उन विशेष तंत्रिकाओं का समूह होता है जो हमें दूसरों के द्वारा किये गए कामों या व्यवहार की नकल करने के लिए प्रेरित करते हैं। खास बात ये है कि इसी सिस्टम के चलते दो लोग मानसिक और भावनात्मक रूप से एक-दूसरे से जुड़ पाते हैं। बता दें कि बंदरों के नकलची होने के पीछे भी उनके अंदर का यही सिस्टम काम करता है।

 

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement