Ali Asgar Faced Molestation in The Getup of Dadi

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

आप में से लगभग सभी लोगों ने ट्रेन का सफर तो किया ही होगा। ट्रेन का सफर करने के लिए रेलवे स्टेशन भी गए होंगे।  अगर आप किसी रेलवे स्टेशन पर गए होंगे तो आपने वहां एक साइन बोर्ड को तो देखा ही होगा, जिस पर स्टेशन का नाम लिखा होता है। अगर आपने ध्यान दिया हो तो आपको उसमें स्टेशन के नाम के साथ ही समुद्र तल से ऊंचाई के बारे में भी बताया जाता है।

समुद्र तल से ऊंचाई

क्या आपके मन में कभी ये सवाल आया है कि आखिर क्यों रेलवे स्टेशन के साइन बोर्ड पर नाम के साथ समुद्र तल से ऊंचाई के बारे में बताया जाता है ? तो आइए हम आपको बतातें हैं कि आखिर क्यों ऐसा लिखा होता है।  ये जानने से पहले आपके  लिए ये जानना जरूरी है कि समुद्र तल से ऊंचाई का मतलब क्या होता है ?

क्या होती है समुद्र तल से ऊंचाई

हम सभी जानते हैं कि पृथ्वी गोल है और दुनिया की एक सामान ऊंचाई नापने के लिए वैज्ञानिकों को ऐसे पॉइंट की जरुरत होती है, जो एक समान रहे। इसके लिए समुद्र से अच्छा कोई दूसरा विकल्प नहीं है। इसका कारण ये है कि समुद्र का पानी एक सामान रहता है।  इसी के साथ ही इसका इस्तेमाल सिविल इंजीनियरिंग में भी किया जाता है।

ड्राइवर और गार्ड को मिलती है मदद

अब जानते हैं कि रेलवे स्टेशन के साइन बोर्ड पर समुद्र तल से ऊंचाई को क्यों दर्शाया जाता है। दरअसल ये ऊंचाई रेल के ड्राईवर और गार्ड के लिए लिखी होती है। इसका कारण ये है कि मान लीजिये ट्रेन 100 मीटर समुद्र तल की ऊंचाई से ट्रेन 150 मीटर समुद्र तल की ऊंचाई पर जा रही है। इस साइन बोर्ड को देखकर ड्राईवर को अंदाजा हो जाता है कि उसको किस हिसाब से ट्रेन के इंजन की स्पीड बढ़ानी है।  

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement