Abram Shouted At Photographers For No Pictures

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

रमजान का महीना शुरू हो चुका है। यह 30 दिन का होता है इस महीने में मुस्लिम समुदाय के लोग रोजा रखते हैं। रोजे के दौरान मुस्लिम समुदाय सुबह सेहरी के वक्त खाना खाते हैं और फिर पूरे दिन भूखे प्‍यासे रहने के बाद इफ्तार के बाद रोजा खोलते है, लेकिन इफ्तारी के समय रोजा खजूर खा कर ही खोला जाता है। ये एक तरह से रिवाज है। दरअसल इफ्तारी के समय खजूर खाकर रोजा तोड़ने के पीछे एक कारण है।

यह है कारण

काफी देर तक भूखा रहने के बाद अचानक ज्यादा भोजन करने से शरीर को नुकसान पहुंच सकता है। रोजा खोलते वक्त कुछ ऐसा खाना खाना चाहिए जो शरीर को एनर्जी दे और खजूर इस कमी को पूरा करता है। खजूर में काफी मात्रा में फाइबर होता है, जो शरीर के लिए बेहद जरूरी होता है। खजूर खाने से पाचन तंत्र मजबूत रहता है।

कहा जाता है कि इस्लाम अरब से शुरू हुआ था और वहां पर खजूर आसानी से मिल जाता था। ऐसे में खजूर का इस्तेमाल शुरू किया गया। इसी के साथ यह शरीर के लिए भी काफी गुणकारी है। इस प्रकार रोजे में खजूर का सेवन करने की परंपरा शुरू हुई।

खजूर खाने के फायदे

  • खजूर में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है जो आपके पाचन तंत्र की सफाई करने के काम आता है। अगर पाचन ठीक रहेगा तो कब्‍ज की शिकायत भी नहीं होगी।
  • दिनभर रोजा रखने से एनर्जी का लेवल कम होता है। ऐसे में रोजा खोलते ही खजूर खाने से बॉडी को तुरंत एनर्जी मिलती है।
  • खजूर में फ्लोरीन पाया जाता है। यह ऐसा केमिकल है जो दांतों से प्‍लाक हटाकर कैविटी नहीं होने देता। यही नहीं यह टूथ इनेमल यानी कि दंतवल्‍क को भी मजबूती देता है।
  • खजूर में वो सभी विटामिन होते हैं जो नर्वस सिस्‍टम के लिए जरूरी हैं। ये विटामिन नर्वस सिस्‍टम की कार्य प्रणाली को दुरुस्‍त रखते हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement