Home Gyan Ganga These Things Should Be Avoided In The Month Of Saawan

मुंबई: भिवंडी में इमारत हादसा, 16 लोगों के मलबे में दबने की आशंका

संसद का शीतकालीन सत्र 15 दिसंबर से 5 जनवरी तक चलेगा

ओडिशा: जगतसिंहपुर में मालगाड़ी के 14 डिब्बे पटरी से उतरे

चित्रकूट रेल हादसा: मरने वालों के परिजनों को मिलेगा 5 लाख रुपये मुआवजा

6 दिवसीय दौरे पर आज जम्मू-कश्मीर पहुंचेंगे दिनेश्वर शर्मा

सावन में इन बातों का ध्यान जरुर रखना चाहिए

Gyan Ganga | 10-Jul-2017 | Posted by - Admin

   
These Things should be avoided in the month of Saawan

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।


हिन्दू धर्म यानी सनातन धर्म में हिन्दी पंचांग के सभी बारह महीनों में श्रावण मास का विशेष महत्व माना जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि ये शिवजी की भक्ति का महीना है। श्रावण मास को सावन माह भी कहते है। ऐसी मान्यता है कि जो लोग इस माह में शिव की पूजा करते हैं, उनके सभी दुख दूर हो जाते हैं। कार्यों में आ रही मुश्किलें खत्म हो जाती हैं और देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त होती है। इसी वजह से देशभर के सभी शिव मंदिरों में भक्तों की भीड़ लगी रहेगी।


इस भक्ति के महीने के लिए शास्त्रों में कुछ ऐसे काम बताए गए हैं जो मनुष्यों को नहीं करना चाहिए। आज हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि ऐसे कौन से काम है जो हमे इस माह में नहीं करने चाहिए।


शिवलिंग पर न चढ़ाएं हल्दी


शिवजी की पूजा करते समय ध्यान रखें कि शिवलिंग पर हल्दी नहीं चढ़ानी चाहिए। हल्दी जलाधारी पर चढ़ानी चाहिए। हल्दी स्त्री से संबंधित वस्तु है। शिवलिंग पुरुष तत्व से संबंधित है और ये शिवजी का प्रतीक है। इस कारण शिवलिंग पर नहीं,बल्कि जलाधारी पर हल्दी चढ़ानी चाहिए। जलाधारी स्त्री तत्व से संबंधित है और ये माता पार्वती की प्रतीक है।


दूध के सेवन से रखें परहेज


सावन में संभव हो तो दूध का सेवन न करें। वैज्ञानिक मत के अनुसार इन दिनों दूध वात बढ़ाने का काम करता है। अगर दूध का सेवन करना हो तब खूब उबालकर प्रयोग में लाएं। कच्चा दूध प्रयोग में नहीं लाएं। सावन में दूध से दही बनाकर सेवन कर सकते हैं, लेकिन भाद्र मास में दही से परहेज रखना चाहिए क्योंकि भाद्र मास में दही सेहत के लिए हानिकारक होता है।


सावन में हरी पत्तेदार सब्जी (साग)  खाना है वर्जित


स्वास्थ्य की रक्षा के लिए सावन में कुछ चीजों को खाना वर्जित बताया गया है। ऐसी चीजों में पहला नाम साग का आता है। सावन में साग में वात बढ़ाने वाले तत्व की मात्रा बढ़ जाती है इसलिए साग गुणकारी नहीं रह जाता है। यही कारण है कि सावन में साग खाना वर्जित माना गया है। दूसरा कारण यह भी है कि इन दिनों कीट पतंगों की संख्या बढ़ जाती है और साग के साथ घास-फूस भी उग आते हैं जो सेहत के लिए हानिकाक होते हैं। साग के साथ मिलकर हानिकारक तत्व हमारे शरीर में नहीं पहुंचे इसलिए सावन में साग खाने की मनाही की गई।


सावन में बैंगन खाना भी वर्जित माना गया है


सावन में महीने में साग के बाद बैंगन भी ऐसी सब्जी है जिसे खाना वर्जित माना गया है। इसका धार्मिक कारण यह है कि बैंगन को शास्त्रों में अशुद्घ कहा गया है। यही वजह है कि कार्तिक महीने में भी कार्तिक मास का व्रत रखने वाले व्यक्ति बैंगन नहीं खाते हैं। वैज्ञानिक कारण यह है कि सावन में बैंगन में कीड़े अधिक लगते हैं। ऐसे में बैंगन का स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए सावन में बैंगन खाने की मनाही है।


बुरे विचारों से बचें


सावन माह में किसी भी प्रकार के बुरे विचार से बचना चाहिए। बुरे विचार जैसे दूसरों को नुकसान पहुंचाने के लिए योजना बनाना, अधार्मिक काम करने के लिए सोचना, स्त्रियों के लिए गलत सोचना आदि। इस प्रकार के विचारों से बचना चाहिए, अन्यथा शिवजी की पूजा में मन नहीं लग पाएगा। मन बेकार की बातों में ही उलझा रहेगा। शास्त्रों में स्त्रियों के लिए गलत बातें सोचना महापाप बताया गया है। सावन माह में अच्छे साहित्य या धर्म संबंधी किताबों का अध्ययन करना चाहिए, इससे बुरे विचार दूर हो सकते हैं।


यह भी पढ़ें

सुप्रीम कोर्ट ने IIT-JEE की काउंसलिंग पर लगाई रोक

पत्थरबाजों से निपटने के लिए फौज अपनाएगी नया तरीका

तलाक के बाद मुन्नीका नया लुक हुआ वायरल

अब शरीर के हिसाब से बढ़ेंगे आपके कपड़े

30 हजार रुपये से कम दाम के 7 अच्छे स्मार्टफोन्स

आईफ़ोन 8 में नहीं होगा ये फीचर

क्या ऐसे होतें हैं तानाशाह”?

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555


संबंधित खबरें



HTML Comment Box is loading comments...

Content is loading...




TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll


What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Photo Gallery
गोमती तट पर दीप आरती करती महिलाएं। फोटो- अभय वर्मा



Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news


sex education news

गैजेट्स

खेल-कूद