Actor Arshad Warsi on Total Dhamaal

दि राइजिंग न्‍यूज

आउटपुट डेस्‍क।

ये सभी जानते हैं कि धृतराष्ट्र और गांधारी के 100 पुत्र थे, मगर बहुत कम लोग ये जानते हैं कि उनकी एक पुत्री भी थी, जिसका नाम दु:शला था। दु:शला का विवाह सिंधु देश के राजा से हुआ था। दु:शला के पति भी महाभारत के प्रमुख पात्रों में से एक था। उनके बारे में जानिए

दु:शला का पति
कौरवों की बहन दु:शला का विवाह सिंधु देश के राजा जयद्रथ से हुआ था। जिस समय पांडव वनवास में थे। उस समय जयद्रथ ने द्रौपदी का हरण कर लिया था। तब पांडवों ने जयद्रथ का वध न करते हुए उसका सिर मुंड दिया था। इसका बदला लेने के लिए जयद्रथ ने भगवान शिव को प्रसन्न कर अर्जुन को छोड़कर शेष पांडवों को हराने का वरदान प्राप्त किया था।

अभिमन्यु की मौत की वजह बना था जयद्रथ
महाभारत युद्ध के दौरान जब द्रोणाचार्य ने चक्रव्यूह की रचना की तो उसके मुख्य द्वार पर जयद्रथ को नियुक्त किया गया। जब अभिमन्यु ने चक्रव्यूह में प्रवेश किया तो जयद्रथ ने भगवान शिव के वरदान से भीम और शेष पांडवों को वहीं रोक दिया। इस वजह से वे चक्रव्यूह में प्रवेश नहीं कर पाए और अभिमन्यु की मृत्यु हो गई। अभिमन्यु की वध का बदला लेने के लिए अर्जुन ने जयद्रथ का वध कर दिया था।

जब अर्जुन पहुंचे सिंधु देश
महाभारत का युद्ध समाप्त होने के बाद जब पांडवों ने अश्वमेध यज्ञ किया तो अर्जुन को यज्ञ के घोड़े का रक्षक बनाया गया। दु:शला के बेटे सुरथ को जब पता चला की यज्ञ का घोड़ा सिंधु देश पहुंच गया है और उसके साथ अर्जुन भी हैं तो यह सुनकर ही उसकी मृत्यु हो गई। तब दु:शला अपने पोते को लेकर अर्जुन के पास गई। दु:शला ने जब ये बात अर्जुन को बताई तो उन्हें बहुत दुख हुआ और वे अपनी बहन को रक्षा का वचन देकर वहां से चले गए।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement