Fanney Khan Promotional Event on Dus Ka Dum

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

  • सौरमण्डल में कई सारे ग्रह हैं और सभी के ग्रहों के अपने-अपने चन्द्रमा हैं। चन्द्रमाओं के बारें में अभी तक बहुत सारी बातें खोजे जाने के प्रयास जारी हैं। 
  • तारों के केन्द्र का तापमान 16 मिलियन डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है। यह तापमान किसी को 150 किलोमीटर दूर से ही जलाकर राख कर देने के लिए बहुत होता है।
  • शनि ग्रह का एक टाइटननाम का तारा है जिसमें जीवन होने की संभावना के बहुत सारे सबूत मिले हैं।
  • सभी ग्रहों के चन्द्रमा हमारे चन्द्रमा की तरह शुष्क और धूल भरे नहीं होते हैं। बृहस्पति ग्रह का Europa नामक चन्द्रमा में एक द्रवित समुद्र भी देखा गया है।
  • हमारे चन्द्रमा पर पानी होने की बात की पुष्टि भारत ने की थी।
  • पूरे सोलर सिस्टम में सबसे बड़ा चन्द्रमा बृहस्पति ग्रह का चन्द्रमा Ganymede है।
  • अभी तक चांद पर किये गये अभियानों से अंतरिक्ष यात्री धरती पर लगभग 380 किलोग्राम चन्द्रमा के पत्थर या Moon rock लेकर आ चुके हैं।
  • एक अनुमान के अनुसार लगभग दो या चार नहीं बल्कि 49 चन्द्रमा ऐसे मौजूद हैं जिन्हें भविष्य में ढ़ूढ़ा जा सकता है।
  • सूरज पर लगने वाले किसी ग्रहण की अधिकतम सीमा लगभग 731 मिनट की है।
  • अभी तक ढ़ूढ़ लिए गये सभी ग्रहों में केवल धरती का वातावरण ही ऐसा है जहां मनुष्य आसानी से सांस ले सकता है। बाकी ग्रहों पर जीवन की संभावनाएं तलाशी जा रही हैं।
  • सौरमण्डल में कुल पांच ग्रह ऐसे हैं जिन्हें बौना ग्रह (dwarf planets) का नाम दिया गया है। इनके नाम Ceres, Pluto, Eris, haumea और Makemake हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll