Coffee With Karan Sixth Season Teaser Released

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

मृत्यु दण्ड एक ऐसा विषय है जिस पर बहुत समय से बहस हो रही है कि इसे होना चाहिये या नहीं। दुनियाभर के कई देशों में अपराधियों को मृत्यु दण्ड  दिया जाता है वहीं कुछ देशों में मृत्यु दण्ड के प्रावधान पर प्रतिबंध है। भारत में अति गंभीर अपराध होने पर ही मृत्युदण्ड दिया जाता है।

मृत्यु दण्ड के बारे में कुछ बातें जानिये:-

  • संयुक्त राज्य अमेरिका में हर 25 में से 1 निर्दोष व्यक्ति को मृत्यु दण्ड दिया जाता है।
  • संयुक्त राज्य अमेरिका के 32 राज्यों में मृत्यु दण्ड वैध है।
  • ईरान में अगर कोई अपना मुस्लिम धर्म त्यागकर कोई और धर्म स्वीकार करता है तो उसे मृत्यु दण्ड देने का प्रावधान है।
  • संयुक्त राज्य अमेरिका में साल 1976 से साल 2014 तक 1394 लोगों को मृत्यु दण्ड दिया जा चुका है।
  • सिंगापुर में ड्रग्स रखने और तस्करी करते हुए पकड़े जाने पर मृत्यु दण्ड का प्रावधान है।
  • चीन में किसी कंपनी के मालिक या अधिकारी के द्वारा धोखा करने पर भी मृत्यु दण्ड का प्रावधान है।
  • नॉर्थ कोरिया में बाइबिल रखने, साउथ कोरिया में पॉर्न मूवी देखने और पॉर्नोग्राफी से जुड़ी किसी भी तरह की गतिविधि में पकड़े जाने का प्रावधान है।
  • दुनिया के किसी भी देश की अपेक्षा चीन में 4 गुना ज्यादा मृत्यु दण्ड दिया जाता है।
  • साल 1944 में अमेरिका में एक 14 साल के अफ्रीकी-अमेरिकन लड़के को मात्र 2 घण्टे की छोटी सी सुनवाई के बाद हल्के से सबूत होने के कारण मृत्यु दण्ड दे दिया गया था।
  • सऊदी अरब में साल 1985 से लेकर अब तक लगभग 2000 से ज्यादा लोगों को मृत्यु दण्ड दिया जा चुका है।
  • पूरी दुनिया की लगभग 60 प्रतिशत से अधिक जनसंख्या ऐसे देशों में रहती हैं जहां मृत्यु दण्ड का प्रावधान है जैसे भारत, चीन, संयुक्त राज्य अमेरिका और इण्डोनेशिया।
  • Nike कंपनी का स्लोगन “Just do it” एक मृत्यु दण्ड दिये गये व्यक्ति के आखिरी शब्दों से प्रेरित था।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement