Home Gyan Ganga Our Mind Knows What Will Happen In Future

CRPF ने सरेंडर करने वाले आतंकियों के लिए टॉल फ्री हेल्पलाइन नंबर शुरू किया

दिल्ली: राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने के लिए CWC ने जारी किया प्रस्ताव

केरल: 31 साल की महिला ने सबरीमाला मंदिर में घुसने की कोशिश की

IAS बीके बंसल की खुदकुशी पर सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई से पूछे सवाल

तमिलमनाडु: रामनाथपुरम में 4 भारतीय मछुआरों को श्रीलंका नेवी ने किया अरेस्ट

भविष्य में होने वाली घटनाओं को पहले ही जान लेता है हमारा दिमाग

Gyan Ganga | 16-Aug-2017 | Posted by - Admin

   
Our mind Knows What Will Happen in Future

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

क्या हम भविष्य का अनुमान पहले ही लगा सकते हैं? क्या घटना के होने से पहले ही हम उसका अंदाजा लगा सकते हैं? क्या हम भविष्य को जान सकते हैं? ये कुछ ऐसे सवाल हैं जो कभी ना कभी हमारे मस्तिष्क में उठ ही जाते हैं। इन सवालों का जवाब विज्ञान के पास मौजूद है, कई लोगों को लगता है कि भविष्य को जानना बहुत मुश्किल है या फिर जो ऐसा करने का दावा करते हैं वह भ्रम फैलाते हैं। जबकि विज्ञान इससे ठीक उलट यह कहता है कि भविष्य को पहसे ही पहचानना मानव मस्तिष्क के लिए बहुत आसान है।

साइंस में प्री-रिकॉगनिशन यानि पहले से ही जान लेने जैसी अवधारणा पर विश्वास किया गया है। जब घटना होने से पहले ही मस्तिष्क में उसकी छाप बन जाती है और व्यक्ति यह जान लेता है कि उसके भविष्य में क्या होगा। लेकिन हमारा मस्तिष्क ऐसा कैसे कर लेता है? इस सवाल का जवाब अभी भी वैज्ञानिकों द्वारा ढूंढ़ा जा रहा है।

फ्रंटियर्स इन ह्यूमन न्यूरोसाइंस नामक पत्रिका में कई ऐसे अध्ययनों से जुड-ई रिपोर्ट प्रकाशित की गई है जिसके अनुसार जो इसी विषय से संबंधित है कि क्या वाकई मानव मस्तिष्क होने वाली घटना को पहले ही जान लेता है। अध्ययनों के अनुसार मानव शरीर होने से 10 सेकेंड पहले ही घटना के लिए तैयार हो जाता है। बहुत से वैज्ञानिकों ने इस बात पर मुहर लगाई है कि मानव शरीर के भीतर ऐसी काबीलीइयत या क्षमता है कि वह होनी को पहले ही जान लेता है। लेकिन अभी तक यह बात समझ नहीं आ पाई है कि मानव शरीर ऐसा कैसा कर लेता है, इस मसले पर अभी भी शोध जारी है कि ऐसा होता क्यों है।

क्या हम भविष्य का अनुमान पहले ही लगा सकते हैं? क्या घटना के होने से पहले ही हम उसका अंदाजा लगा सकते हैं? क्या हम भविष्य को जान सकते हैं? ये कुछ ऐसे सवाल हैं जो कभी ना कभी हमारे मस्तिष्क में उठ ही जाते हैं। इन सवालों का जवाब विज्ञान के पास मौजूद है, कई लोगों को लगता है कि भविष्य को जानना बहुत मुश्किल है या फिर जो ऐसा करने का दावा करते हैं वह भ्रम फैलाते हैं। जबकि विज्ञान इससे ठीक उलट यह कहता है कि भविष्य को पहसे ही पहचानना मानव मस्तिष्क के लिए बहुत आसान है।

साइंस में प्री-रिकॉगनिशन यानि पहले से ही जान लेने जैसी अवधारणा पर विश्वास किया गया है। जब घटना होने से पहले ही मस्तिष्क में उसकी छाप बन जाती है और व्यक्ति यह जान लेता है कि उसके भविष्य में क्या होगा।लेकिन हमारा मस्तिष्क ऐसा कैसे कर लेता है? इस सवाल का जवाब अभी भी वैज्ञानिकों द्वारा ढूंढ़ा जा रहा है। फ्रंटियर्स इन ह्यूमन न्यूरोसाइंस नामक पत्रिका में कई ऐसे अध्ययनों से जुड-ई रिपोर्ट प्रकाशित की गई है जिसके अनुसार जो इसी विषय से संबंधित है कि क्या वाकई मानव मस्तिष्क होने वाली घटना को पहले ही जान लेता है।

अध्ययनों के अनुसार मानव शरीर होने से 10 सेकेंड पहले ही घटना के लिए तैयार हो जाता है। बहुत से वैज्ञानिकों ने इस बात पर मुहर लगाई है कि मानव शरीर के भीतर ऐसी काबीलीइयत या क्षमता है कि वह होनी को पहले ही जान लेता है। लेकिन अभी तक यह बात समझ नहीं आ पाई है कि मानव शरीर ऐसा कैसा कर लेता है, इस मसले पर अभी भी शोध जारी है कि ऐसा होता क्यों है।

 

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555


संबंधित खबरें



HTML Comment Box is loading comments...

Content is loading...




TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll


What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Photo Gallery
गोमती तट पर दीप आरती करती महिलाएं। फोटो- अभय वर्मा



Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news


sex education news

उत्तर प्रदेश