Nitin Gadkari Biopic Trailer Out

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

इस बार उत्पन्ना एकादशी 03 दिसंबर को मनाई जाएगी। एकादशी का नियमित व्रत रखने से मन कि चंचलता समाप्त होती है। धन और आरोग्य की प्राप्ति होती है। उत्पन्ना एकादशी का व्रत आरोग्य, संतान प्राप्ति तथा मोक्ष के लिए किया जाने वाला व्रत है। माना जाता है कि कैसी भी मानसिक समस्या हो इस व्रत से दूर हो जाती है। यह मार्गशीर्ष कृष्ण पक्ष की एकादशी को रखा जाता है।

व्रत रखने के नियम

  • यह व्रत दो प्रकार से रखा जाता है-निर्जल व्रत और फलाहारी या जलीय व्रत।

  • सामान्यतः निर्जल व्रत पूर्ण रूप से स्वस्थ्य व्यक्ति को ही रखना चाहिए।

  • अन्य या सामान्य लोगों को फलाहारी या जलीय उपवास रखना चाहिए।

  • इस व्रत में दशमी को रात्री में भोजन नहीं करना चाहिए।

  • एकादशी को प्रातः काल श्री कृष्ण की पूजा की जाती है।

  • इस व्रत में केवल फलों का ही भोग लगाया जाता है।

  • बेहतर होगा कि इस दिन केवल जल और फल का ही सेवन किया जाए। 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement