Thugs of Hindostan Katrina Kaif Look Motion Poster Released

दि राइजिंग न्‍यूज

आउटपुट डेस्क।

 

बप्‍पा को घर लाने से पहले इस खबर को ध्‍यान से पढ़ लीजिए-

मूर्ति व स्‍थापना संबंधी बातें--

मूर्ति शुद्ध मिट्टी की, चतुर्भुज प्रतिमा घर लाये

कमल के आसन पर

सूंड़-दक्षिणावर्ती (हमारे देखने से दाहिनी ओर )

स्थापना घर के ईशान कोण में (नार्थ ईस्ट) या पूर्व में करें।

गणेश जी पश्चिम की ओर देखें।

गणेश जी की पीठ आपके घर की तरफ न हो।

ध्यान रखें कि जहां विराजमान करें उसके ऊपर या नीचे सीढ़ी, टॉयलेट, किचन इत्यादि न हों।

जहां मूर्ति स्थापित करें, पहले पीला सूती वस्त्र बिछा कर, चावलों को हल्दी से रंग कर स्वस्तिक बनाएं, उसके ऊपर मूर्ति स्थापित करें।

मूर्ति के बांई तरफ तांबे या चांदी का जल कलश एवं दायीं तरफ अखंड दीपक स्थापित करें।

गणेश स्थापना में पार्वती जी जरूर रखी जाती हैं। अतः उनकी छोटी से मूर्ति ले लें अथवा प्रतीक रूप में सुपाड़ी, चांदी का सिक्का या मिट्टी से बना कर पूजा में रखें।

एक छोटा सा तांबे का नवग्रह यंत्र भी रखें।

 

क्या चढ़ाएं--

पीला सिंदूर, हल्दी, केसर, रोली, पीले अक्षत अवश्य अर्पित करें।

हरी एवं सफेद दुर्बा 11,2,108 श्रद्धानुसार चढ़ावें।

रक्त पुष्प विशेष कर गुड़हल का पुष्प और माला अवश्य अर्पित करें।

क्या लगाएं--

भोग-पान के पत्ते पर या नई कांसे, चांदी की कटोरी में शुद्ध घी के बूंदी या बेसन के 21लड्डू एवं कैथा, केला व अन्य 5 फल अवश्य अर्पित करें।

मुख शुद्धि हेतु पान, सुपाड़ी, लौंग, इलायची अर्पित करें।

 

व्रत में क्‍या खाएं--

गणेश जी के व्रत में सूर्योदय से चंद्रोदय तक ही फलाहार खाना चाहिए।

जमीन के अंदर पैदा हुए कंद जैसे आलू, शकरकंद, मूंगफली, साबूदाना इत्यादि से बने पदार्थ एवं फलों का सेवन भोग लगा कर करना चाहिए।

 

बप्‍पा की प्रतिमा स्‍थापना के लिए विशेष मुहूर्त

गणेश जी का जन्म मध्यान काल मे मानते हैं।

प्रातः 11.03-से -13.30 तक

10.44-से -13.45 तक क्रमशः चर, लाभ, अमृत की होरा है, जो शुभ है।

प्रातः 11.49- से 12.39 तक श्रेष्ठ अभिजित मुहूर्त है।

10 बजकर 15 मिनट से दोपहर 12.17 तक  चंद्र की होरा

सर्वाधिक महत्वपूर्ण मुहूर्त

12-13.40 के मध्य

इसमें आपको अभिजित मुहूर्त, अच्छी चौघड़िया, होरा एवम स्थिर वृश्चिक लग्न मिलेगी।

राहुकाल-13.50 से15.22 ये वर्जित काल है, अतः इसके पूर्व स्थापना अवश्य कर लें।

अंतरराष्ट्रीय वास्तु विद (सर्वांगजी के अनुसार)

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement